Home Blog Page 3

Aadhar Card से pAn Card Link कैसे करें

Aadhar Card से pAn Card Link कैसे करें ? संपूर्ण जानकारी हिंदी में।

Pan Card Aadhar Card Link

Pan Card Aadhar Card Link – क्या दोस्तों आपको जानकारी है कि आधार कार्ड से पैन कार्ड लिंक कैसे करें ?

अगर नहीं है तो आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इसी के बारे में जानकारी देने वाले हैं कि आधार कार्ड और पैन कार्ड लिंक कैसे करें? तो जानने के लिए हमारी आज की पोस्ट को पढ़ सकते हैं।

दोस्तों आयकर विभाग ने सभी पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक को करवाना अनिवार्य कर दिया है इसलिए अगर आपने अभी तक अपने पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक नहीं करवाया है तो जल्द से जल्द करवाइए

और आधार कार्ड से पैन कार्ड लिंक करवाने के लिए आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको ऐसे तरीका शेयर करने जा रहे हैं इसको अपना करके आप बड़ी आसानी से आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करवा सकते हैं तो चलिए शुरू करते और यह जानने का प्रयास करते हैं कि किस तरीके से हम आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करवा सकते हैं।

दोस्तों अगर आपने अभी तक आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक नहीं करवाया है तो आपका पैन कार्ड किसी काम का नहीं है ऐसी कंडीशन में अगर आप आयकर अधिनियम के अंतर्गत जुर्माना भी भरना पड़ सकता है तो चलिए दोस्तों आपको आधार कार्ड से पैन कार्ड लिंक करने का सबसे सरल और आसान तरीका बताने जा रहे हैं।

दोस्तों फिर से एक बार बता देती है कि आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करवाना अनिवार्य हो गया है क्योंकि यदि आपका आधार कार्ड पैन कार्ड के साथ लिंक नहीं हुआ तो आपके आयकर रिटर्न की प्रक्रिया नहीं की जाएगी साथी अगर आपको ₹50000 से अधिक का बैंक का लेन देन करना है तो आप अपना पैन कार्ड आधार कार्ड से लिंक करवाना आवश्यक है।

दोस्तों अगर आप पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करवाना चाहते हैं तो इसकी प्रोसेसिंग बहुत ही आसान है और गवर्नमेंट ने इसे करने के लिए आम जनता के लिए बहुत ही आसान तरीके उपलब्ध कराए हैं जिनके बारे में हम आपको आगे जानकारी देने वाले हैं पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करने की लास्ट डेट 31 जुलाई 2021 है।

How to link PAN card to Aadhar card (आधार कार्ड से पैन कार्ड लिंक कैसे करें?)

दोस्तों पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करवाने की प्रक्रिया बहुत ही आसान है और आपको हम दो method से आधार नंबर को अपने पैन कार्ड से लिंक कर सकते हैं।

First method– दोस्तों इनकम टैक्स की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करके यहां पर साधारण जानकारी कंप्लीट करके सीधे लिंक करवा सकते हैं।

Second method – दोस्तों एसएमएस के जरिए आज हम आपको बताने वाले हैं।

आधार और पैन कार्ड लिंकिंग से जुड़े सवाल जवाब –

पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करने के क्या लाभ हैं पैन कार्ड से संबंधित कुछ अन्य जानकारियां 

पैन कार्ड द्वारा पेन जानकारी कैसे प्राप्त करें

पैन कार्ड में एड्रेस कैसे सर्च करें 

नाम और जन्मतिथि द्वारा पैन कार्ड की जानकारी 

पैन कार्ड क्या है? What Is A Pan Card In Hindi

आधार कार्ड और पैन कार्ड लिंक कैसे करे।

1. दोस्तों अगर आप अपने आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करवाना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको इनकम टैक्स ऑफ इंडिया incometaxindiaefiling.gov.in

की वेबसाइट पर विजिट करना है।

2. सबसे पहले आपको उस वेबसाइट को ओपन करना है उसके बाद में लेफ्ट साइड में क्विक लिंक्स का ऑप्शन दिखाई दे रहा होगा आपको यहां पर एक लिंक का आधार का ऑप्शन भी दिखाई दे रहा होगा उसी लिंक पर आप को क्लिक करना है।

3. दोस्त आधार लिंक में क्लिक हमले के बाद में आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा और उसके बाद में आपको वहां पर अपनी सारी जानकारी करनी है।

दोस्तों यहां पर आपको अपना पैन कार्ड नंबर डालना है जैसे कि अगर आपका पैन कार्ड नंबर है, ABCDE1234F 

तो आपको नंबर डालना है।

आधार नंबर डालना है जो आपके आधार कार्ड में मिलेगा।

यहां पर आपको अपना नाम डालना है जैसा कि आपकी आधार कार्ड में लिखा हुआ है।

अब आपको agree to validate my Aadhar details with UIDAI ऑप्शन पर क्लिक करना है इसलिए बाद में कैप्चा कोड डालना होगा और उसके पश्चात लिंक आधार वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।

लिंक आधार वाले ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद मैं अपना आधार कार्ड और पैन कार्ड लिंक को हो जाएगा और अगर आपका आधार कार्ड और पैन कार्ड पहले से ही लिंग कब हुआ है तो वह भी आपको पता चल जाएगा।

SMS के माध्यम से आधार कार्ड और पैन कार्ड लिंक कैसे करें?

पैन कार्ड को आधार कार्ड से पैसे सेंड कर के भी आपको लिंक कर सकते हैं s.m.s. आधार कार्ड को पैन कार्ड लिंक करने के लिए हमारे द्वारा बताए गए इस टैक्स को फॉलो करें।

दोस्तों सबसे पहले आपको मैसेजेस को ओपन करना होगा और UIDPAN<12-digit Aadhaar><10-digit PAN>

डालें और अपनी रजिस्टर माल नंबर है 567678 या 56161 पर एक मैसेज सेंड करना है।

 दोस्तों जैसे मान लो आपका बार नंबर 987654321012 और आपका पैन कार्ड नंबर ABCDE1234F है, तो आपको लिखना है 987654321012 ABCDE1234F इस मैसेज को आपको 567678 या 56161 पर भेज देना है 

आधार कार्ड पैन कार्ड लिंक स्टेटस कैसे चेक करें ?

Aadhar card pan card link status check kaise karen

पैन कार्ड और आधार कार्ड से लिंक स्टेटस चेक करने के लिए आपको हमारे द्वारा दी गई इस लिंक पर क्लिक करना है – https://www1.incometaxindiaefiling.gov.in/e-FilingGS/Services/AadhaarPreloginStatus.html

उसके बाद मैं आपको अपना पैन नंबर और आधार नंबर भरना है फिर उसके बाद में view link Aadhar status वाले ऑप्शन पर क्लिक करना उसके बाद आपको लिंकिंग का स्टेटस दिखाई देने लगेगा।

आधार और पैन कार्ड लिंकिंग से जुड़े कुछ सवाल जवाब

दोस्तों अगर आप मेरे पास आधार कार्ड नहीं है तो क्या मैं भी अपना टैक्स रिटर्न फाइल भर सकती हूं ।

हां, जी हां आप tax return file भर सकते हैं, लेकिन यह तब तक कंप्लीट नहीं होगा जब तक कि आपका आधार कार्ड पैन कार्ड के साथ लिंक नहीं होगा।

पैन और आधार को लिंक किसे करना जरूरी है यदि मेरी आए टेक्स्ट अपने text limit से कम है तो क्या होगा ?

दोस्तों अगर किसी व्यक्ति की आय टैक्स योग्य लिमिट से कम भी है तो भी उसे अपने पैन कार्ड से आधार कार्ड को लिंक करवाना होगा नहीं तो, उसे निष्क्रिय कर दिया जाएगा।

आधार – पैन कार्ड को लिंक करवाना कब तक अनिवार्य नहीं है ?

दोस्तों आपको अपने पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करवाने से छूट है लेकिन आप एक NRI है भारत में रहने वाले विदेशी नागरिक हैं वरिष्ठ नागरिक जो वित्तीय वर्ष के पश्चात किसी भी समय 80 वर्ष से अधिक आयु के हैं।

क्या NRI को E– FILE को करने के लिए आधार कार्ड की जरूरत है?

NRI को इनकम टैक्स रिटर्न फाइल भरते समय आधार नंबर बताने की आवश्यकता नहीं है।

दोस्तों क्या हमें अपना पैन और आधार कार्ड लिंक करवाने के लिए किसी डाक्यूमेंट्स प्रमाण प्रस्तुत करना होगा।

पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करने की प्रोसेसिंग में बहुत ही आसान है आप इसे ऑनलाइन या एसएमएस के माध्यम से भी कंप्लीट कर सकते हैं आपको कोई डाक्यूमेंट्स प्रस्तुत करने की आवश्यकता नहीं है।

पैन कार्ड को आधार कार्ड link करने के लाभ है ?

पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करने के लिए हमें निम्नलिखित कारणों से सभी पैन कार्ड धारकों के लिए पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करवाना बहुत ही महत्वपूर्ण है।

जो पैन कार्ड आधार कार्ड से लिंक नहीं है उन्हें 31 दिसंबर 2019 के बाद निष्क्रिय कर दिया जाएगा भारत सरकार मैं सभी पैन कार्ड को आधार से लिंक करवाना अनिवार्य कर दिया है।

पैन कार्ड को आधार कार्ड से जोड़ने से एक ही नाम फार्म जारी किए गए पैन कार्ड की प्रॉब्लम्स से निकलने में सहायता मिलती है यदि आपका पैन कार्ड आधार कार्ड से लिंक नहीं है तो आप आएगा रिटर्न फॉर्म नहीं भर सकते हैं

यूजर सबको फ्यूचर में संदर्भ के लिए उस पर लगाई गई टैक्स एक संक्षिप्त जानकारी मिलती है।

पैन नंबर के माध्यम से पैन जानकारियां कैसे पाएं

Pan Card धारक एक नंबर का इस्तेमाल से पैन जानकारियां भी प्राप्त कर सकता है।

दोस्तों सबसे पहले आपको को आयकर विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है : 

https://www.incometaxindiaefiling.gov.in/home

“Register yourself” वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है और अपना पैन नंबर डालना है और दूसरी जानकारी डाल कर के सबमिट वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।

दोस्तों आपको अपने रजिस्टर ईमेल आईडी पर अकाउंट एक्टिवेट होने से संबंधित एक लिंक मिलेगी।

“My Account” पर विजिट करना है।

“Profile Settings” में जाकर के “Pan details” वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है

पैन कार्ड से संबंधित सभी जानकारियां आपकी स्क्रीन पर आ जाएंगी।

पैन कार्ड कैसे सर्च करें

PAN card में हम एक तरह की जानकारियां होती है जैसे नाम, पता, जन्मतिथि, फोटो, पैन नंबर आदि। V पैन कार्ड में क्या-क्या जानकारियां होती है यह जानकारी होनी चाहिए जिससे कि आवश्यकता पड़ने पर बदला जा सके पैन कार्ड के बारे में जाने के लिए आप हमारे द्वारा बताई गई जानकारियों को अपना सकते हैं।

दोस्तों सबसे पहले आपको आयकर विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना है

https://www.incometaxindiaefiling.gov.in

“Registered user?” पर क्लिक करना है और पूछी गई सारी जानकारी को कंप्लीट करना है।

“Profile Setting” सेक्शन में पैन डिटेल्स वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।

दोस्त उसके बाद में एड्रेस वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है और क्लिक करने के बाद में पूरा एड्रेस आपके सामने आ जाएगा जैसे देश, पता, पिन कोड राज्य, और नाम जैसी अन्य जानकारी।

नाम और जन्मतिथि के माध्यम से पैन कार्ड जानकारियां

Pan कार्डधारक (व्यक्ति/कंपनी) नाम और जन्मतिथि प्रधान कर पैन कार्ड की सभी जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं पैन कार्ड जानकारियां जानने के लिए आप अप्लाई को निम्नलिखित तरीकों से अपना सकते हैं।

आयकार e – filing की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना है और वहां पर आपको https://www.incometaxindiaefiling.gov.in/home

“Quick Links” जाकर के “Know Your PAN” वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।

उपनाम नाम मध्य नाम पर पहला नाम स्टेटस लिंग जन्मतिथि और मोबाइल नंबर डालना है आपको पैन कार्ड के साथ रजिस्टर माय नंबर पर ओटीपी आएगा उस ओटीपी कोड को डालकर के validate वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।

उसके बाद मैं आपको अपने पिता का नाम और सबमिट वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।

अपना पैन नंबर और हमने जानकारियों के साथ आपकी स्क्रीन पर दिखाई देने लगती है।

पैन कार्ड क्या है – what is e PAN card in Hindi

PAN card की फुल फॉर्म – Permanent Account Number होती है यह एक यूनिक पहचान पत्र है और कैसे किसी भी तरह का फाइनेंसियल इंटरेक्शन में बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है पैन अपनी आमदनी से इनकम टैक्स का भुगतान देने के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होता है।

पैन कार्ड में 10 डिजिट का अल्फा न्यूमैरिक नंबर मौजूद रहता है जो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से प्राप्त होता है पैन कार्ड इनकम टैक्स एक्ट 1961 के अंतर्गत भारत में laminated Card रूप में बनाया जाता है जिसे इनकम टैक्स डिपार्टमेंट सेंटर बोर्ड फॉर डायरेक्ट टेक्स्ट (CBDT) की देखरेख करता है।

निष्कर्ष

तो दोस्तों हमें आशा है, कि आपको हमारी आज की यह जानकारी आधार कार्ड और पैन कार्ड लिंक कैसे करें मिल गई होगी अगर आपको हमारी इस पोस्ट में किसी भी तरह की परेशानी आती है या फिर आपको हमसे कुछ पूछना है तो आप हमें नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं हम आपकी पूरी सहायता करने की कोशिश करेंगे।

दोस्तों अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो और इससे आपको कुछ ना कुछ हेल्प मिली हो तो इसलिए अपने दोस्तों और सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले और उनको भी आधार कार्ड और पैन कार्ड लिंक कैसे करें इसके बारे में जानकारी दें।

तो दोस्तों इसी तरह हम आपके लिए टेक्नालॉजी से संबंधित जानकारी लेकर आते रहेंगे तब तक के लिए हमारे साथ बने रहिए।

Gadi ka Insurance Kaise Kare

गाड़ी का इंश्योरेंस कैसे करें?Bike का Insurance कैसे करें? जानिये Car Insurance कैसे करें In Hindi

नमस्कार दोस्तों 🙏, 

हमारी वेबसाइट neetutech.in आपका बहुत-बहुत स्वागत है। आज हम आपके लिए लेकर आए हैं गाड़ी का इंश्योरेंस कैसे करें अगर दोस्तों आप भी इसी से संबंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो बिल्कुल सही स्थान पर पहुंचे है आज हम आपको बाइक इंश्योरेंस कैसे करें

इस पोस्ट से रूबरू कराने वाले और बाइक इंश्योरेंस कैसे करें इसके बारे में हम आपको पूरी जानकारी देने वाली है। अगर आप भी जानना चाहते हैं तो हमारी आज की इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक ध्यान पूर्वक पढ़ते रहिए

आज हम आपको बिल्कुल सरल और हिंदी भाषा में बताएंगे कार का इंश्योरेंस कैसे करें?

तो चलिए शुरू करते हैं

दोस्तों अगर आप वाहन का इस्तेमाल करते हैं या फिर आपके पास कोई बाइक या कोई गाड़ी खरीदी है तो आपको है मालूम ही होगा कि गाड़ी का इंश्योरेंस क्या होता है कि जब हम कोई नई गाड़ी खरीदी है तो हमें उसका इंश्योरेंस करवाना होता है ताकि जब हमारी गाड़ी से कोई एक्सीडेंट (दुर्घटना) हो जाए तो या फिर चोरी होने पर बीमा कंपनी हमारी सहायता कर सके

दोस्तों जब किसी कारणवश हमारी गाड़ी के द्वारा एक्सीडेंट क्या हमारी गाड़ी चोरी हो जाती है तो हमें आने का प्रॉब्लम्स का सामना करना पड़ता है तो इसीलिए हमें अपनी गाड़ी का इंश्योरेंस कराना होता है जितना हो सके हमें स्वयं की गाड़ी का बीमा करवा देना चाहिए ताकि वाहन द्वारा हमें किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े।

तो चलिए दोस्तों अब हम यह जानने का प्रयास करते हैं एक गाड़ी का इंश्योरेंस कैसे करें?

यदि आप भी अपनी गाड़ी का बीमा करवाना चाहते हैं तो आज इस पोस्ट में हमारे साथ बने रहिए जिसमें हम जानकारी देने वाले हैं कि फर्स्ट पार्टी इंश्योरेंस क्या होता है तो उसके लिए आपको हमारे द्वारा नीचे दिए जानकारी हो ध्यान पूर्वक पढ़ना है।

👉 बाइक का इंश्योरेंस कैसे करें

दोस्तों अगर आप बाइक का इंश्योरेंस करवाना चाहती है तो आप डिजिटल सेवा पोर्टल की सहायता ले सकते हैं आप अपनी बाइक का बीमा करवाना चाहते हैं तो आपको हमारे द्वारा बतये गये के स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

Step

दोस्तों सबसे पहले आपको डिजिटल सेवा पोर्टल वेबसाइट पर लॉग इन करना है।

Step

दोस्तों को उसके बाद मैं आपको इंश्योरेंस वाले पर क्लिक करना है।

step

इसके बाद में आपको मोटर थर्ड पार्टी वाले ऑप्शन को सिलेक्ट करना है।

Step

इस पर क्लिक करने के बाद में आपको सबसे अच्छी मोटर इंश्योरेंस कंपनी को सेलेक्ट करना है और उसकी लिस्ट आपके सामने आ जाएगी अपनी बाइक इंश्योरेंस के लिए आपको जो भी कंपनी पसंद आए उसे सिलेक्ट कर सकते हैं।

Step

उसके बाद में आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा उसमें लॉगइन विद डिजिटल सेवा कनेक्ट वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।

Step

दोस्तों इसके बाद में आपके सामने एक और नया पेज ओपन होगा उसमें मोटर थर्ड पार्टी /Tp Policy Option सिलेक्ट करना है आपके सामने एक बाइक इंश्योरेंस फॉर्म ओपन होगा जिसे आपको ध्यान पूर्वक कंप्लीट करना है।


Download

Step

दोस्तो सबसे पहले उस फॉर्म में आपको रजिस्ट्रेशन बॉक्स में अपनी गाड़ी का नंबर लिखना है।

Step

दोस्तों जैसे ही आप उसमें गाड़ी का नंबर लिखते हैं आपके सामने गाड़ी से संबंधित सारी जानकारी दिखाई देने लगेंगे और साथ ही उसके नीचे आपको बीमा के लिए कितने पैसों की आवश्यकता होगी वह भी दिखाई देने लगेगा।

Step

और आखिरी में proceed for payment वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है और पेमेंट करने के लिए पे वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।

Step

कृष की पश्चाताप के सामने एक और नया पेज ओपन होगा जिसमें आपकी सीएससी आईडी का पासवर्ड डालना है और वैलिडेट वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।

Step

दोस्तों उसके बाद में आपके सामने ऑनलाइन पेमेंट करने का भी ऑप्शन आएगा अगर आप चाहे तो अपनी इच्छा अनुसार हम वॉयलेट पेमेंट भी कर सकते हैं।

दोस्तों पेमेंट करने के पश्चात आपकी बाइक का इंश्योरेंस की प्रोसेसिंग कंप्लीट हो चुकी है और आपकी स्क्रीन पर इंश्योरेंस पॉलिसी नंबर दिखाई देने लगेंगे जिसे आप सेव कर सकते हैं अगर चाहे तो प्रिंट निकाल सकते हैं।

👉 कार का इंश्योरेंस कैसे करें

दोस्तों अगर आपके पास एक कार है और आप उस कार का इंश्योरेंस करवाना चाहते हैं तो उसके लिए भी हम वेबसाइट का नाम बता रहे हैं जिसकी सहायता से आप अपनी कार का बीमा करवा सकते हैं।

Icici Lombard Car Insurance

Hdfc Ergo 2 Wheeler Insurance

Bajaj Allianz Bike Insurance

Tata Aig Two Wheeler Insurance

Bharti Axa 2 Wheeler Insurance

दोस्तों इन वेबसाइट में से किसी एक website को सिलेक्ट करके आप अपनी कार का इंश्योरेंस करवा सकते हैं तो आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि आप किस तरह से इन वेबसाइट की सहायता ले सकते हैं और अपनी कार का बीमा करवा सकते हैं तो उसके लिए आपको हमारे द्वारा बताए गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

Go To Website 

दोस्तों सबसे पहले आपको हमारे द्वारा बताई गई इन वेबसाइट में से एक वेबसाइट को सिलेक्ट करना है और उसमें लॉगइन करना है।

Select Option

दोस्तों वहां पर आपको कुछ ऑप्शन दिखाई दे रहे होंगे जैसे रिन्यू एक्टिंग और बाय न्यू पॉलिसी इस तरह के ऑप्शन दिखाई दे रहे होंगे या कुछ डिफरेंट भी हो सकते हैं इसके बाद में आपको पॉलिसी रिन्यू बाली ऑप्शन को सिलेक्ट करना है या फिर न्यू पॉलिसी बाय वाले ऑप्शन को सिलेक्ट कर सकते हैं।

Enter Details

उसके बाद में आपको अपनी गाड़ी की डिटेल्स भरनी है।

Select Duration

और उसके बाद में आप कितने सालों के लिए बीमा करवाना चाहते हैं टाइम को सिलेक्ट करना है।

Online Payment

उसके बाद में सारी जानकारी अच्छी तरह से चेक करने के बाद में ऑनलाइन पेमेंट करना है इसके बाद में बीमा पॉलिसी आपको मिल जाएगी और आप उसका प्रिंट निकलवा सकते हैं।

👉 Third Party Insurance Kya Hota Hai

दोस्तों यदि आपकी गाड़ी से किसी कारणवश दूसरी गाड़ी का एक्सीडेंट हो जाता है यह गाड़ी का नुकसान हो जाता है और उस व्यक्ति का भी एक्सीडेंट हो जाता है और उसे चोट भी लग जाती है तो इस कंडीशन में पैसे बीमा कंपनी देती है और लेकिन जो आप का एक्सीडेंट होता है उसका पैसा कंपनी नहीं देगी इसलिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस करवाना भी बहुत आवश्यक है।

👉 1st Party Insurance Meaning In Hindi

दोस्तों अब हम आपको बताने वाले हैं कि फर्स्ट पार्टी इंश्योरेंस क्या होता है इस तरह के इंश्योरेंस में अगर किसी तरह की दुर्घटना हो जाती है तो आपको सभी तरह के नुकसान के लिए पैसे बीमा कंपनी ही देती है।

जैसे किसी गाड़ी या ड्राइवर और गाड़ी में बैठे अन्य लोग और वाहन से हुआ एक्सीडेंट का नुकसान हो जाता है तो उसकी भरपाई भी बीमा कंपनी करेगी।

निष्कर्ष

दोस्तों आज कि इस पोस्ट के जरिए हमने आपको बताया है कि गाड़ी का इंश्योरेंस कैसे करें और इसके अलावा हमने आपको फर्स्ट पार्टी इंश्योरेंस के बारे में भी जानकारी दिए तो आशा करते हैं कि आपने हमारी आज की इस पोस्ट के माध्यम से पूरी जानकारी प्राप्त कर ली होगी।

बाइक इंश्योरेंस कैसे करें आपने इसके बारे में भी जानकारी दी है तो आशा करते हैं कि हमारी आज की इस पोस्ट को पढ़ने के बाद में आप बाइक इंश्योरेंस करवा सकते हैं।

Third party insurance definition in Hindi इसके बारे में भी आपको जानकारी मिल गई होगी तो इस जानकारी को आप अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें एवं सोशल मीडिया पर भी इस पोस्ट को शेयर करें फर्स्ट पार्टी इंश्योरेंस मीनिंग इन हिंदी को जरूर शेयर करें जिससे कि और भी लोगों को इस बारे में जानकारी प्राप्त हो सके।

तो दोस्तों गाड़ी का इंश्योरेंस कैसे करें आपको किसी भी तरह की परेशानी आती है तो बेझिझक आप हमें नीचे कमेंट सेक्शन में बता सकते हैं और हमारी वेबसाइट की टीम आपकी हेल्प करने के लिए तत्पर रहेगी।

Online Study kaise kare 2021

Online Study kaise kare full Jankari in Hindi 2021

Online Study kaise kare 2021

नमस्कार दोस्तों कैसे हो आप स्वागत है आपका आज के इस नए आर्टिकल में दोस्तों आज का यह आर्टिकल आपके लिए बहुत ही ज्यादा helpful होने वाला है इसलिए आप इस आर्टिकल को शुरू से लेकर लास्ट तक जरूर पढ़िए दोस्तों आज किस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि ऑनलाइन पढ़ाई कैसे की जाती है दोस्तों यदि आपको ऑनलाइन पढ़ाई करना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को आप शुरू से लेकर लास्ट तक जरूर पढ़िए।

ऑनलाइन स्टडी कैसे करें : दोस्तों जैसा कि आपको पता है कि आज के समय में लगभग सभी काम इंटरनेट के माध्यम से किया जाते हैं। दोस्तो आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि इस तरीके से पढ़ाई करने में आपके आने जाने का समय बचाता है और सभी स्टूडेंट टीचर के द्वारा बताई गई जानकारी को अच्छे से समझ लेते हैं क्योंकि एक बार समझ में नहीं आने पर भी आप उसे द्वारा भी समझ सकती है।

ऑनलाइन पढ़ाई कैसे करें?

दोस्तों हम आपको बता देते हैं कि ऑनलाइन से पढ़ाई करने के बहुत सारे फायदे होते हैं ऑनलाइन पढ़ाई करना स्टूडेंट के लिए कई तरह से लाभदायक होता है आप अपने घर बैठे मोबाइल लैपटॉप या फिर कंप्यूटर के माध्यम से कर सकते हैं और टीचरों को भी ऑनलाइन पढ़ाना काफी सिंपल लगता है और उन्हें शारीरिक रूप से हार्ड वर्क नहीं करना पड़ता है। इसके अलावा और भी कई सारे फायदे होते हैं ऑनलाइन से पढ़ाई करने के दोस्तों जैसा कि आपको पता है कि korona का टाइम चल रहा है और सभी जगह पर लॉकडाउन लगे हुए हैं स्कूल कॉलेज बाजार सभी बंद पड़े हुए हैं ऐसे में ऑनलाइन से पढ़ाई करना बहुत अच्छा तरीका बन चुका है।

Android mobile app की सहायता से :

दोस्तों आज के समय में गूगल प्ले स्टोर पर है आपको बहुत सारे ऑनलाइन साड़ी करने की एप्लीकेशन मिल जाएंगे जहां से आप बिल्कुल फ्री में या फिर पैसे देकर सभी तरह की क्लास अपने मोबाइल फोन में लाइव Attand सकते हैं दोस्तों ऐप के माध्यम से ऑनलाइन पढ़ाई करने के बहुत सारे फायदे होते हैं इसके लिए आपको कहीं पर जाने की कोई जरूरत नहीं होती है और ना ही आपको बुक्स खरीदने की जरूरत पड़ती है और ना ही आपको बैग आज प्रकार के कोई प्रोडक्ट खरीदने की आवश्यकता नहीं होती है।

वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन पढ़ाई करें 

दोस्तों यह भी बहुत अच्छा तरीका है ऑनलाइन से पढ़ाई करने का दोस्तों आज के समय में आपको बहुत सारी वेबसाइट मिल जाएंगी और जो आपको बिल्कुल फ्री में सभी तरह के कोर्स प्रोवाइड करती हैं तो आप अभी इन वेबसाइट को विजिट करके अपने घर बैठे ऑनलाइन पढ़ाई कर सकते हैं दोस्तों आज के समय में बहुत सारी वेबसाइट आपको मिल जाएंगे जो आपको फ्री में या कुछ पैसे लेकर आपको सभी कोर्स provide करती है।

Download

यूट्यूब चैनल के माध्यम से :

दोस्तों जैसा कि आपको पता है कि आज के समय में सबसे अधिक यूट्यूब को इस्तेमाल किया जाता है आज के समय में आपको हजारों लाखों की संख्या में ऑनलाइन क्लास वाले यूट्यूब चैनल मिल जाएंगे जहां पर live class चलाई जाती है और इसके लिए आपसे एक भी पैसा नहीं लिया जाता है तो दोस्तों आपके लिए ऑनलाइन पढ़ाई करने का यह बहुत अच्छा तरीका है, दोस्तों आजकल बहुत सारे लोग हैं जो ऑनलाइन अपने घर बैठे यूट्यूब के माध्यम से लाइव क्लास अटेंड करते हैं और वह सारे लोग इसके लिए पैसे ना होने के कारण यूट्यूब पर ऑनलाइन क्लास अटेंड करते हैं और अपनी नॉलेज को इनक्रीस करते हैं। दोस्तों इसके लिए आपको बस लाइव क्लास वाले ही 2 चैनल को सब्सक्राइब करना है और बैल नोटिफिकेशन को ऑल पर सिलेक्ट करना है और जब भी क्लास लाइव चलेगी तो आपके पास नोटिफिकेशन आ जाएगा वैसे बहुत सारे यूट्यूब चैनल ऐसे हैं जो आपको टाइम टू टाइम क्लास प्रोवाइड करते हैं।

फेसबुक एजुकेशन ग्रुप ज्वाइन करके :

दोस्तों जैसा कि आपको पता है कि फेसबुक भी बहुत बड़ा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जहां पर आपको सभी तरह की जानकारी मिल जाती हैं चाहे वह कोई सभी क्षेत्र क्यों ना हो यहां पर सभी प्रकार के कंटेंट्स अपलोड किए जाते हैं दूसरे यदि आप ऑनलाइन पढ़ाई करना चाहते हैं तो आप एजुकेशनल फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करके आप ऑनलाइन क्लास अटेंड कर सकते हैं और आप अपने टाइम को बचा सकते हैं और अपनी नॉलेज को आसानी से बढ़ा सकते हैं। दोस्तों इसके लिए आपको सबसे पहले एजुकेशनल फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करना होगा और इसके बाद आप उस ग्रुप के माध्यम से एजुकेशनल नॉलेज को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

WhatsApp में Group study के माध्यम से :

आजकल सोशल मीडिया को बहुत अधिक इस्तेमाल किया जाता है पढ़ाई करने के लिए दोस्तों इसके लिए आपको बहुत सारे व्हाट्सएप गोरख मिल जाएंगे जहां पर आपको शिक्षकों के मार्गदर्शन प्रोवाइड किए जाते हैं। दोस्तों इस प्रकार के ग्रुप में आपको सभी भेजी गई पोस्ट आपके पढ़ाई से संबंधित होती हैं और इसके अलावा आपको यहां पर इंपॉर्टेंट नोट्स और अपडेट दी जाती है तो दोस्तों इस प्रकार आप व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करके अपने घर बैठे ऑनलाइन अपनी नॉलेज को आसानी से बढ़ा सकते हैं और कोई भी दिक्कत हो या प्रॉब्लम होने पर आप मैसेज करके पूछ सकते हैं।

Online तरीके से पढ़ाई कैसे शुरू करें :

दोस्तों और लाल पढ़ाई करने के लिए आपको गूगल प्ले स्टोर पर बहुत सारी एप्लीकेशन मिल जाएंगे जहां पर आप खुद फीस देकर उस ऐप में रजिस्टर करके अपने मोबाइल फोन में सभी कोर्स को अपने मोबाइल फोन में अपने हिसाब से इस्तेमाल कर सकते हैं। दोस्तों इस प्रकार के एप्लीकेशन आपको गूगल प्ले स्टोर पर बहुत मिल जाएंगे जहां से आप ऑनलाइन कोर्स खरीद सकते हैं या फिर लाइव क्लास अटेंड कर सकते हैं। दोस्तों हमने ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए नीचे एक एप्लीकेशन का लिंक कर दिया हुआ है आप उसे डाउनलोड कर के उसमें रजिस्टर करके ऑनलाइन पढ़ाई आसानी से कर सकते हैं।

https://play.google.com/store/apps/details?id=in.gov.swayam.app&hl=hi&gl=US

Online पढ़ाई करने के क्या फायदे हैं :

दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि ऑनलाइन से पढ़ाई करने के बहुत सारे फायदे होते हैं दोस्तों हमने कुछ इंपोर्टेंट फायदे की लिस्ट नीचे दी है।

Online पढ़ाई करके आप अपने समय को बचा सकते हैं और अपने घर बैठे मोबाइल फोन में कंप्यूटर के माध्यम से पढ़ सकते हैं।

ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए आपको किसी भी कोचिंग को अटेंड करने की कोई जरूरत नहीं होगी आप अपने घर बैठे मोबाइल फोन में ऑनलाइन पढ़ाई आसानी से कर सकते हैं।

दोस्तों यदि आपको ऑनलाइन पढ़ाई करते समय कोई टॉपिक समझ में नहीं आता है तो आप उसे दोबारा से देख सकते हैं और जब तक समझ ना आए तब तक देख सकते हैं।

ऑल द पढ़ाई के माध्यम से आपको अपने घर बैठे अच्छे टीचरों से ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं जोकि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से आप तक पहुंचाया जाता है और इसके लिए आपसे एक ही पैसा नहीं दिया जाता है।

ऑनलाइन पढ़ाई करते समय आप अपना समय बचाने के साथ-साथ और भी छोटे-मोटे कार्य कर सकते हैं।

ऑनलाइन अप्लाई करते समय क्या-क्या समस्याएं आती हैं?

दोस्तों ऑनलाइन पढ़ाई करते समय बहुत सारे समस्या भी आती है

जब आप अपने मोबाइल फोन है या किसी अन्य डिवाइस में ऑनलाइन क्लास लेने बैठ जाते हैं तो आपके पास और सारे नोटिफिकेशन आते रहते हैं जिससे स्टूडेंट लाइव क्लास को छोड़कर नोटिफिकेशन पर क्लिक करके दूसरे टॉपिक को देखने लगता है।

ओलंपिक आते समय अगर किसी का कॉल आ जाता है तो इससे आपकी पढ़ाई डिस्टर्ब होती है और आपको कॉल को अटेंड करना पड़ता है और उसके बाद आप ध्यान भूल जाते हैं और किसी काम में लग जाते हैं।

ऑनलाइन पढ़ाई करते समय स्कूल जैसा माहौल नहीं हो पाता है और इस वजह से पढ़ाई पर पूरा ध्यान नहीं जा पाता है इसलिए हम मोबाइल से जल्दी बोर हो जाते हैं।

निष्कर्ष :

दोस्तों मैं उम्मीद करती हूं कि आपको हमारे आज की यह पोस्ट काफी पसंद आई होगी और आप अच्छे से समझ गए होंगे कि ऑनलाइन पढ़ाई कैसे की जाती है और और ऑनलाइन पढ़ाई करने के क्या-क्या फायदे होते हैं और क्या परेशानी होती है इन सब के बारे में आप इस पोस्ट के माध्यम से अच्छे से समझ गए होंगे और दोस्तों फिर भी आपके मन में कोई सवाल है तो आप उसे कमेंट बॉक्स में जरूर लगी है आपकी कमेंट का जवाब दिया जाएगा और दोस्तों इस पोस्ट को आप अपने सभी दोस्तों को साथ सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें ताकि वह भी ऑनलाइन क्लास अटेंड कर सके और घर बैठे अपने नॉलेज को बढ़ा सकें दोस्तों मिलते हैं नई अगले तब तक के लिए धन्यवाद!

Health Insurance (हेल्थ इंश्योरेंस) प्रीमियम कम करने की 8 बेस्ट टिप्स

Health Insurance (हेल्थ इंश्योरेंस) प्रीमियम कम करने की 8 बेस्ट टिप्स

दोस्तों आज के दौर में बढ़ती महंगाई को देखकर के अस्पताल की सुविधाएं भी महंगी होती जा रही है। अगर आपको किसी बीमारी के कारणवश अस्पताल में एडमिट होना पड़े तो काफी ज्यादा कैसे खर्च करनी पढ़ती हैं इसी कारण से हेल्थ इंश्योरेंस खरीदना बहुत ही ज्यादा आवश्यक हो गया है।

दोस्तों स्वास्थ्य बीमा प्लान को खरीदने पर आपकी बीमारी को दूर तो नहीं किया जा सकता है लेकिन उस बीमारी के लिए जब आप अस्पताल में एडमिट होंगे तो आपका जो खर्चा होगा वह काफी हद तक कम हो जाएगा।

दोस्तों किसी कारणवश आपके एंपलॉयर ने आपको हेल्थ इंश्योरेंस दे दिया हो। हुआ है उस कवर को आप इस्तेमाल करेंगे लेकिन फिर भी उसके बावजूद भी आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है जैसे कि यह cover केवल तब तक ही काम करेगा जब तक आप उस एंपलॉयर के साथ काम करते रहेंगे अगर आपने उस जॉब को छोड़ दिया या चेंज कर लिया तो आपसे वह कवर छीन लिया जाएगा।

इसीलिए दोस्तों अपनी व्यक्तिगत हेल्थ इंश्योरेंस कवर खरीदने की एडवाइज दी जाती है लेकिन ऐसा भी हो सकता है कि ऐसे प्लान का प्रीमियम आपके बजट के बाहर भी हो सकता है यही कारण है कि बहुत सारे लोग स्वास्थ्य बीमा प्लान नहीं खरीद पाते हैं एक बात पर ध्यान दीजिए कि अगर आप को हेल्थ इंश्योरेंस का प्रीमियम देने में इतनी सारी दिक्कत आ रही है तो आप अस्पताल का लंबा पेमेंट कैसे करोगे।

दोस्तों आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम को कम करने के लिए कुछ टिप्स पता नहीं जा रही हूं किन के माध्यम से आप बड़ी आसानी से हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कम करवा सकते हैं।

हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम को कम करने के लिए बेहतरीन टिप्स :

👉 हम कवर के लिए ऑप्शनन

दोस्तों जो हम आपको बताने जा रहे हैं वह बिल्कुल भी कोई कवर ना होने से बेहतरीन है यदि आप ₹500000 का स्वास्थ्य बीमा का प्रीमियम आप नहीं दे सकते हैं अफोर्ड नहीं कर सकते आप ₹200000 के लिए कवर बना सकते हैं भविष्य में जब आपकी आय बढ़ जाएगी और आप ज्यादा प्रीमियम का भुगतान करने में असक्षम रहेंगे तब आप कवर को बढ़ा भी सकते हैं।

👉 वार्षिक कटौती (Deductible) के लिए ऑप्शन

बीमाकर्ता सिर्फ एक निश्चित लिमिट तक अस्पताल का खर्चा उठा सकता है आप एक सुपर टॉप अप प्लान (super top-up plan) ले सकते है।

एग्जांपल के तौर पर चलिए एक प्राइवेट इंश्योरेंस कंपनी के प्लान के बारे में जानकारी लेते हैं।

एक परिवार 4 (40,38, 10,4) के लिए 1000000 रुपए के परिवार के लिए प्लॉटर का प्रीमियम ₹27,436 है।

दोस्तों यदि आपको ₹300000 की कटौती (deductible of Rs 3 lacs) करते हैं तो प्रीमियम 16,463 रुपए है।

और याद रखेंगे ऐसे ऑप्शन में आपको ₹3 लाख अपने वोलेट से देने होंगे।

कल्पना कीजिए कि हॉस्पिटल का बिल ₹700000 है और ₹300000 लाख रुपए आपको देनी है और बाकी चार लाख इंश्योरेंस कंपनी देगी।

5 लाख रुपये की कटौती (deductible of रस 5 lacs) के साथ, सालाना प्रीमियम 13,71 9 रुपये है।

👉 सह पेमेंट ( co – payment ) का ऑप्शन

जब आप शादी को खरीदते हैं उस वक्त खरीद आप बीमा खरीदी के वक्त लागत साझा करने के ऑप्शन को सिलेक्ट कर सकते हैं।

दोस्तों इस इस कुछ भी इस तरह से आप समझ सकते हैं कल्पना कीजिए आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्लान में 20% से सह भुगतान (co-payment) है

दो आपके द्वारा बीमा किया गया उस कंपनी को स्वीकार किए गए मेडिकल का बिल 20% आपको देना पड़ेगा।

सेवर बताना कंपनी को 2 तरह से सहायता करती है।

दोस्तों आप इलाज में लगे पैसों का साझा कर सकते हैं क्योंकि आप उपचार की लागत का साझा कर सकते हैं।

तो जाहिर सी बात है आप होना इलाज मैं खर्च हुए पैसों में से कम से कम रखने का प्रयास करेंगे इसी से इंश्योरेंस कंपनी को भी आप के इलाज में कम खर्चा करना पड़ेगा।

इसी कारण से co पेमेंट को चुनाव करने शराब का प्रीमियम कम हो सकता है।


Download

👉 मातृत्व (maternity benefit) फायदे से बचें

मातृत्व लाभ के तहत बीमा कंपनी चाइल्ड डिलीवरी में होने वाले खर्चे को काफी हद तक अपने कर लेती है।

भोजपुरी का तरह से मातृत्व लाभ बीमा के सिद्धांत के विपक्ष है। दोस्तों पर आमतौर पर हम बीमा कंपनी का खर्चा जब होता है जब आपको हानि हुई हो जैसे कोई बीमारी या एक्सीडेंट या मृत्यु लेकिन बच्चे का जन्म तो कोई भी बात होती है ना।

जो व्यक्ति फैमिली प्लानिंग के तहत परिवार बढ़ाने का यानी बच्चे करने का प्लान बना रहे हैं मामलों में यह खर्चा तो होता ही है।

इसी कारण से मातृत्व लाभ की साथ योजना (health insurance plan with maternity benefit) काफी महंगी होती जा रही है

दोस्तों पर्सनली मैं ₹50,000 से कम होने होली वाले लाभ के लिए ₹15,000 प्रति वर्ष के अलावा प्रीमियम का 3 वर्ष का भुगतान नहीं करूंगी।

आप भी मेटरनिटी बेनिफिट वाले प्लेन से बचे रहे

👉 परिवार फ्लोटर (family floater) और पर्सनली योजना (individual plan) के बीच तय करें।

फैमिली फ्लोटर प्लान में पूरा परिवार का ही प्लान कवर हो सकता है कबर हो सकता है।

दोस्तों अगर आप हो इनविजुअल प्लान लेने के बारे में सोच रहे है तो प्रत्येक व्यक्ति के लिए नया प्लान लेना होगा।

लेकिन याद रखना कि फैमिली फ्लोटर का प्रीमियम सबसे ज्यादा उम्र वाले सदस्य की उम्र के ऊपर डिपेंड करता है।

इसीलिए फैमिली फ्लोटर प्लान एक युवा परिवार के द्वारा लेना सबसे बेस्ट ऑप्शन है और प्रीमियम भी बहुत कम होगा

लेकिन अगर आप अपने 40 वर्षों से ऊपर है तो शायद आपके लिए अच्छा हुआ कि आप अपने लिए इनविजिबल प्लान ले सकते हैं।

👉 अन्य बीमा कंपनी से हेल्थ इंश्योरेंस खरीद सकते हैं

दोस्तों अगर आपकी बर्दवान बीमा योजना महंगी हो गई है तो आप किसी अन्य बीमा कंपनी से बीमा ले सकते हैं।

नई बीमा करता कम प्रीमियम पर कवर की पेशकश कर सकता है और इससे आपका प्रीमियम भी कम हो जाएगा।

अपनी नीति को पोर्ट कर सकते हैं।

👉 2 साल के लिए प्रीमियम भुगतान करें

लगभग सभी बीमा करता आपको दो या दो से अधिक सालों के लिए बीमा प्रीमियम का भुगतान पर 5% से 10% की छूट दे सकते हैं।

कल्पना कीजिए 1000000 रुपए में से एक फैमिली फ्लोटर का प्रीमियम ₹27,436 है।

यदि आप एक साथ 2 साल का भुगतान करेंगे तो आपको 52,643 रुपए का भुगतान करना होगा इसके परिणाम स्वरूप 2,231 रुपए की बचत हो जाएगी।

👉 हॉस्पिटल के कैश या OPD सुविधाओं से बचें

ऐसी facilities से कुछ ज्यादा लाभ नहीं होता है और बिना बात के प्रीमियम बढ़ जाता है।

आपको क्या करना चाहिए

हमने स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम को कम करने के लिए कई तरीकों पर विशेष ध्यान दिया है।

ध्यान रखें आपने प्रत्येक तरीके में आपने कुछ ना कुछ लिया है।

दोस्तों अगर आप का प्रीमियम कब हुआ है तो कहीं ना कहीं आप की कवरेज भी कम हुई होगी।

निष्कर्ष

दोस्तों में दिखाते हैं कि आज की हमारी इस पोस्ट से आपको मर्द जरूर मिली होगी इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले और अपना महत्वपूर्ण फीडबैक जरूर दें धन्यवाद ।🙏

 

 

 

Top 5 Photo Editing Apps For Android Mobile 2021

Top 5 Photo Editing Apps For Android Mobile 2021

  

Top 5 Photo Editing Apps For Android Mobile 2021.

नमस्कार दोस्तों आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं जिनके माध्यम से आपको किसी फोटो की एडिटिंग कर सकते हैं एक ऐसे एंड्रॉयड स्मार्टफोन

और आजकल ज्यादातर आपको हर किसी के पास एंड्रॉयड स्मार्टफोन उपलब्ध मिल जाएगा।

दोस्तों अगर आप 2021 में ऑनलाइन बेस्ट फोटो एडिटिंग एप्स की खोज कर रहे हैं तो आप हमारी इस पोस्ट को पढ़ सकते हैं क्योंकि आज भी इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको टॉप फाइव फोटो एडिटर एप्स फॉर एंड्राइड एंड्राइड ऐप्स के बारे में जानकारी देने वाली हूं। शायद आपको इनके बारे जानकारी नहीं होगी।

दोस्तों आज का दौर सेल्फी का दौर रह गया है क्योंकि आजकल ज्यादा लोग अपनी फोटो में फिल्टर लगाकर की सोशल मीडिया जैसी प्लेटफार्म पर शेयर करके और वहीं अगर देखा जाए तो अनेक लोग जिनका इंटरेस्ट फोटो को और अच्छा लुक देना होता है और थोड़ा अट्रैक्टिव बनाने की भी कोशिश करते हैं।

दोस्तों अगर आप की फोटो खींचने का शौक रखते हैं तो आप इंस्टाग्राम प्लेटफार्म के बारे में तो अच्छी तरह से जानती होंगी और उसका इस्तेमाल भी करते होंगे अगर नहीं कर रही है तो जल्दी से कीजिए और इंस्टाग्राम पर तुरंत साइन अप कीजिए क्योंकि इंस्टाग्राम फोटो शेयरिंग का सबसे बेहतरीन प्लेटफार्म है।

दोस्तों अगर आप वीडियो एडिट करना चाहते हैं और उसके लिए आप वीडियो एडिटिंग एप्स सर्च कर रहे हैं तो मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि यह आर्टिकल मैंने केवल आपके लिए ही पोस्ट किया है जिससे कि आप बेस्ट वीडियो एडिटिंग एप्स फॉर एंड्राइड के बारे में जानकारी प्राप्त कर सके तो आप यहां से पढ़ करके वीडियो एडिटिंग एप्स के बारे में जान सकते हैं।

तो चलिए शुरू करते हैं वह कौन-कौन से फोटो एडिटिंग एप्स है जिनसे से हम फोटो एडिट करने के बारे में सीख सकते हैं। 

स्मार्टफोन से फोटो एडिटिंग करने के लिए बेस्ट एप्स

1. Snapseed

2. Adobe Photoshop Lightroom

3. AirBrush

4. Fotor

5. Pixler

1. Snapseed

Snapseed apps को हमने पे नंबर पर असली रखा है क्योंकि यह सबसे बेहतरीन प्रोफेशनल एडिटिंग ऐप है और आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि इसे गूगल के द्वारा ही डिवेलप किया गया है।

दोस्तों इसमें आपको बेस्ट से बेस्ट टूल्स उपलब्धि मिल जाते हैं जिनकी सहायता से आप अपनी फोटो को इतना ज्यादा प्रोफेशनल लुक दे सकते है कि जिसको देखकर कोई भी यह नहीं कह सकता कि यह मोबाइल के द्वारा एडिट किया गया है।

तो चलिए दोस्तों एक नजर हम स्नैप्सीड की ओर डालते हैं और हाइलाइटेड कौन-कौन से फीचर है।

पर्सनली मुझे यह फीचर बेस्ट लगते हैं

Lens Blur: दोस्तों आज का दौर पोर्टल फोटोग्राफी आने की बैकग्राउंड ब्लर का दौर रह गया है अगर आपके पास डीएसएलआर नहीं है फिर भी आप इफेक्ट की सहायता से अपनी फोटो में वह के इफेक्ट दे सकते हैं इसे इफेक्ट के बाद आपकी फोटो भी अद्भुत दिखने लगेगी इसके अलावा और भी इसमें बहुत सारी फीचर से है जिसका इस्तेमाल करेंगे तो आप खुद पर खुद जान जाएंगे।

दोस्तों आप स्नैप्सीड एप को प्ले स्टोर से आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।

2. Adobe Photoshop Lightroom:

दोस्तों वहीं पर अगर एडोब के बारे में बात की जाए तो Adobe उनके लगभग सभी सॉफ्टवेयर पैड होते हैं परंतु यह फोटोशॉप लाइट्रूम एप आपकी बिल्कुल फ्री में फोटो एडिटिंग टूल है।

दोस्तों इस ऐप की सहायता से आप फोटो क्लिक करने से लेकर एडिटिंग और शेयरिंग भी कर सकते हैं इसमें अनेक इफेक्ट बिल्कुल फ्री में उपलब्ध है लेकिन इसमें कुछ प्रीमियम इफेक्ट भी आपको उपलब्ध मिल जाते हैं लेकिन उनको आप को खरीदना पड़ता है।

लेकिन दोस्तों आप फ्री वाले से अपने फोटो को बहुत ही प्रोफेशनल लुक दे सकते हैं। दोस्तों इस एडिटिंग ऐप की सहायता से आप एचडीआर मोड में भी बेहतर से बेहतर पिक्चर भी ले सकते हैं।

दोस्तों इसे आप उसे ली गई फोटो ऐड करने के बाद आप चाहे तो दोबारा से ओरिजिनल फोटो में भी पा सकते हैं इस ऐप की सहायता से आप अपनी फोटो को एक बेहतरीन लुक भी प्रदान कर सकते हैं अगर बिलीव ना हो तो एक बार ट्राई करके देखें।

दोस्तों अगर आप इसका इस्तेमाल करना चाहते हैं तो सीधे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं।

3. AirBrush:

दोस्तों अगर हम फोटो एडिटिंग के जितने भी एप्स गूगल पर सर्च करती है और उन सभी के इफेक्ट फिल्टर फुल फोटो फ्रेम आदि पर कार्य करते हैं और वहीं पर देखा जाए तो फोटो की ब्राइटनेस बढ़ाएं तो पूरे फोटो की फ्रेम की ब्राइटनेस बढ़ जाती है ऐसे में बेस्ट क्वालिटी का फोटो एडिट करने में हमें दिक्कत आती है।

लेकिन दोस्तों यार भरोसा एक ऐसा ऐप है जिस की सहायता से हम फोटो खींची किसी भी विशेष हिस्से को इफेक्ट कर सकते हैं और अपनी इच्छा के अनुसार फोटो फ्रेम के जिस पोर्शन इफेक्ट देना चाहते हैं उसको इफेक्ट दे सकते हैं इसके फीचर्स देखने के लिए आप उसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

Airbrush | Top 5 Photo Editor Apps

Blemish and pimple remover :

 दोस्तों अगर आपके फेस पर कोई भी पल है तो आप फोटो बेकार बता रहा है तो ऐसे मैं आपको यार बस आपकी सहायता नहीं सकते हैं और आपके चेहरे पर जो भी पिंपल्स होंगे वह सभी रिमूव हो जाएंगे।

Whiten Teeth and Brighten Eyes: 

दोस्तों एयर ब्रश की सहायता से हम दांत और आंखों को भी इफेक्ट कर सकते हैं और इसका इस्तेमाल करके इफेक्टेड भी कर सकते हैं।

Real-Time Technology:

दोस्तों आज के समय में रियल टाइम फोटो एडिटिंग के समय और कोई भी फोटो कैप्चर करने के बाद एडिटर नहीं करना चाहता है।

अब सभी फोटो क्लिक करते समय उसी इफेक्ट एंड फिल्टर को भी ऐड कर देते हैं जो एयरब्रश में रियल टाइम फोटो एडिटिंग में फीचर्स दिया गया है।

 दोस्तो आप ऐसे प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकती हो।

4. Fotor:

दोस्तों फोटोर एक बहुत ही ज्यादा फेमस विंडोज, आईओएस एंड एंड्राइड फोटो एडिटिंग एंड कॉलेज मारकर एप्लीकेशन है फोटोर से हम प्रोफेशनल लुक दे सकते है अपनी फोटो एडिटिंग करके यह विशेष रूप से कॉलेज मार्किंग के लिए फेमस है अगर आप इससे फोटो कंबाइन करना चाहते हैं तो एक बेहतरीन ऐप है।

आपने इंटरनेट पर ऐसी अनेक फोटो देखी और जोकि मैगजीन की तरह इफेक्टिव है और हम सभी की यह उम्मीद होती है कि हम सभी भी फोटो एडिट करना सीखें।

लेकिन दोस्तों हमें ऐसा कोई मोबाइल लिया सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन नहीं मिलता है जिसकी सहायता से हम आसानी से मैगजीन जैसे फोटो बना सके फोटो एक ऐसा ऐप है जिस की सहायता से आप आसानी से इंडिया टुडे, टाइम्स, बिजनेस जैसे बड़ी बड़ी मैग्नीज की तरह फोटो एडिट कर सकते हैं।

5. Pixler:

दोस्तों पिक्सलर फोटो एडिटिंग बहुत ही ज्यादा बढ़िया ऐप है और यह मेरा पसंदीदा ऐप है मैं हमेशा इसी ऐप का इस्तेमाल करती हूं दोस्तों फोटो एडिटिंग के लिए आपको सभी फीचर्स उपलब्ध मिल जाएंगे जो किया हमें एक हाईलाइट क्वालिटी का फोटो ऐड करने में हमारी सहायता करता है।

दोस्तों फोटो के लेआउट और बैकग्राउंड को भी आप एडिट कर सकते हैं किसी को भी ओल्ड या न्यू फोटो का कलर बैलेंस भी कर सकते फोटो पर मल्टी लेयर एक्स्पोज़र ऐड कर सकते हैं 1000 प्लस फोटो फिल्टर भी ऐड कर सकते हैं।

और इसके अलावा इमेज साइज को रिचार्ज भी कर सकते हैं अपनी इच्छा के अनुसार।

और अपने हिसाब से रोलेट भी कर सकते है।

100+ Text Effects & Style

Pixler एक ऐसा ऐप है अगर आप इसे डाउनलोड करते हैं तो इसको आप फोटो एडिटिंग के लिए टूल्स इफेक्ट फिल्टर सभी मिल जाते हैं अगर आप इसे डाउनलोड कर सकते हैं तो आपको अन्य एप की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

Free Fire Me Name Kaise Change Kare ?

Free Fire Me Name Kaise Change Kare ?

[2 Best Tricks]

फ्री फायर गेम में नाम कैसे बदलें ? – फुल मार्गदर्शन हिंदी में।

दोस्तों दुनिया के सबसे लोकप्रिय गेम फ्री फायर को खेलना प्रत्येक व्यक्ति पसंद करता है। और इसके बारे में नई नई चीजें जानने की बारे में हर कोई excited रहता है।

और इसके बारे में हर रोज नई तरह तरह की न्यूज़ आपको देखने को मिल जाएंगे तो उसी से संबंधित है और उसी तरह हम आपके लिए नई न्यूज़ लेकर आए हैं तो आज की इस पोस्ट में हम आपके साथ शेयर करने वाले हैं कि “फ्री फायर में नाम कैसे चेंज करें?” दोस्तों क्या आपको जानकारी है कि फ्री फायर गेम में नाम कैसे चेंज करते हैं अगर नहीं जानते है तो आज भी इस पोस्ट में हम आपको फ्री फायर नाम कैसे चेंज करें? इसके बारे में संपूर्ण जानकारी शेयर करने वाले हैं तो हमारी आज की इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक ध्यान पूर्वक पढ़ते रहिए और

दोस्तों आज के दौर में बैटल रॉयल गेम्स का काफी ज्यादा प्रचलन हो गया है इस तरह के गेम को खेलना था तेरा बंदा पसंद करता है बैटल रॉयल गेम्स के बारे में चर्चा करें तो (पब्जी, कॉल ऑफ ड्यूटी, फौजी, गरेना फ्री फायर) आदि गेम्स का नाम सबसे पहले आता है और यह पूरी दुनिया में पॉपुलर भी हो चुके हैं तो दोस्तों आज किस पोस्ट में हम आपको गरेना फ्री फायर का नाम कैसे चेंज करें इसकी संपूर्ण जानकारी आपके साथ शेयर करने वाले हैं तो बनी रही आज की इस पोस्ट में हमारे साथ।

फ्री फायर में नाम कैसे चेंज करें? How To Change Name In Free Fire In Hindi?

दोस्तों आज भी इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको गरेना फ्री फायर का नाम बदलने के दो तरीके के बारे में बताने का प्रयास करेंगे जिन को फॉलो करने के बाद में आप फ्री फायर का नाम बड़ी आसानी से बदल सकते हैं इनमें से पहला तरीका है की डायमंड से फ्री फायर में नाम कैसे चेंज करें? और दूसरा यह है कि विदाउट डायमंड की फ्री फायर में नाम कैसे चेंज करें?

डायमंड से फ्री फायर नाम कैसे चेंज करें ?

[How To Change Name From Diamond To Free Fire In Hindi?]

1. फ्री फायर गेम को ओपन करें

दोस्तों सबसे पहले आपको अपने मोबाइल फोन में फ्री फायर गेम को ओपन करना है।

2. प्रोफाइल बैनर पर क्लिक करना है

दोस्तों जब आप फ्री फायर गेम को ओपन करेंगे तो उसके बाद आपको लेफ्ट साइड में प्रोफाइल बैनर दिखाई दे रहा होगा उस पर क्लिक करना है।

3. पेंसिल आइकॉन पर क्लिक करें

दोस्तों प्रोफाइल बैनर पर क्लिक करने के पश्चात आपको लेफ्ट साइड में नाम के नीचे येलो कलर का पेंसिल का एक आईकॉन दिखाई दे रहा होगा उस पर क्लिक करना है।

4. अपना फेवरेट नाम डालें?

जैसे दोस्त वापस पेंसिल वाले आईकॉन पर क्लिक करते हैं तो आपके सामने एक डायलॉग बॉक्स ओपन होगा इसमें आपको निकनेम वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है और उसके पश्चात आपको अपनी मर्जी के हिसाब से नाम डाल सकते हैं।

5. डायमंड वाले ऑप्शन पर क्लिक करें

अपना पसंदीदा नाम डालने के पश्चात आपको नीचे डायमंड वाला बटन दिखाई दे रहा होगा उस पर क्लिक करना है और आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डायमंड से अपना नाम चेंज करने के लिए 390 डायमंड्स खर्च करने पड़ेंगे।

जैसे ही आप डायमंड वाले ऑप्शन पर क्लिक करते हैं तो आपका नाम फ्री फायर गेम में कन्वर्ट हो जाएगा।

विदाउट डायमंड के फ्री फायर में नाम कैसे चेंज करें?

[How To Change Name in Free Fire Without Diamond In Hindi?]

1. Free fire game start kare

दोस्तों सबसे पहले आपको फ्री फायर गेम को अपने मोबाइल फोन में ओपन करना है।

2. प्रोफाइल बैनर पर क्लिक करें

दोस्तों जैसे ही आप फ्री फायर गेम को अपने मोबाइल फोन में स्टार्ट करते हैं तो आपको ऊपर लेफ्ट साइड के एक कोने में प्रोफाइल बैनर ऑप्शन दिखाई दे रहा होगा उस पर क्लिक करना है।

3. पेंसिल आइकॉन पर क्लिक करें

प्रोफाइल बैनर पर क्लिक करने के बाद आपको लेफ्ट साइड में yellow colour का पेंसिल का आइकॉन दिखाई दे रहा है उस पर क्लिक करना है।

4. अपना नाम चेंज करें

जैसी आपकी पेंसिल वाले आईफोन पर क्लिक करते हैं तो आपके सामने एक डायलॉग वाला ऑप्शन ओपन होगा इसमें आपको अपना फेवरेट नेम लिख सकते हैं यदि आपने किसी अन्य स्थान से नाम को कॉपी किया है तो यहां पर उसे पेस्ट कर सकते हैं।

Download

5. नाम चेंज कार्ड पर क्लिक करें

अपना फेवरेट नाम दाने के पश्चात आपने जो भी नाम डालना है उसके नीचे आपको नाम चेंज कार्ड वाला ऑप्शन दिखाई दे रहा होगा उस पर क्लिक करना है।

जैसे ही आप उस नाम चेंज कार्ड वाले ऑप्शन पसंद करते हैं तो आपका नाम फ्री फायर गेम में चेंज हो जाएगा।

दोस्तों नाम चेंज कार्ड से अपना नाम चेंज करने के लिए सबसे पहले आपके पास नाम चेंज कार्ड होना बहुत ही आवश्यक है अगर आपके पास नाम कार्ड चेंज नहीं है तो हम आपको नीचे कुछ बता रहे हैं उनको फॉलो करने के बाद मैं आप नेम कार्ड चेंज करने का तरीक जान सकते हैं

फ्री फायर में नाम चेंज कार्ड कैसे प्राप्त करें?–

[How To Get Name Change Card In Free Fire In Hindi?]

दोस्तों आप फ्री फायर की सहायता से आप अनेक जगहों से नाम चेंज कार्ड प्राप्त कर सकते हैं लेकिन यहां पर आपको अपने डायमंड को अत्यधिक मात्रा में खर्च करने की आवश्यकता पड़ेगी।

दोस्तों आपको डायमंड ज्यादा खर्च ना करने पड़े इसके लिए यहां पर हम आपको कुछ बेस्ट मेथड बताने जा रहे हैं जिनसे केवल आप 39 डायमंड की सहायता से नाम चेंज कार्ड प्राप्त कर सकते हैं।

1. Free fire game open Kare

दोस्त सबसे पहले आपको अपने मोबाइल फोन में गरेना फ्री फायर गेम को ओपन करना है और उसमें लॉगिन करें।

2. स्टोर वाले ऑप्शन पर क्लिक करें

दोस्तों फ्री फायर गेम में लॉगिन करने के पश्चात आपको लेफ्ट साइड में स्टोर का ऑप्शन दिखाई दे रहा होगा उस पर क्लिक करना है।

3. रिडीम ऑप्शन पर क्लिक करें

दोस्तों स्टोर वाले ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद छात्र आपको राइट साइड में रिडीम का ऑप्शन दिखाई दे रहा होगा उस पर क्लिक करना है।

4. GUILD TOKEN पर टैब करें

रिडीम पर क्लिक करने के पश्चात आपको सबसे नीचे राइट साइड में आपको एक “GUILD TOKEN” ऑप्शन दिखाई दे रहा होगा उस पर क्लिक करना है।

5. Name change card select Kare

GUILD TOKEN मैं सबसे पहले आपको नंबर पर नाम चेंज कार्ड का ऑप्शन दिखाई दे रहा होगा उस पर क्लिक करना है और उसके बाद में आपको से सिलेक्ट करना है।

6. एक्सचेंज वाले ऑप्शन पर क्लिक करें

अब आपको एक्शन वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है जैसे ही आप एक्सचेंज वाले ऑप्शन पर क्लिक करते हैं तो आपको नेम चेंज कार्ड प्राप्त हो जाएगा।

Conclusion :

दोस्तों आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको फ्री फायर में नाम कैसे चेंज करें? इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है इस पोस्ट के माध्यम से डायमंड से फ्री फायर में नाम कैसे चेंज करें?

और इसके अलावा दोस्तों हमने आपको फ्री फायर मे नेम चेंज कार्ड कैसे प्राप्त करें इसके बारे में भी संपूर्ण जानकारी दीजिए अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई है तो उसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ताकि आपके दोस्त भी फ्री फायर में नाम कैसे चेंज करें इसके बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकें अगर इस पोस्ट से संबंधित है आपके मन में कोई सवाल हो तो हमें नीचे कमेंट करके बता सकते हैं तब तक के लिए आप हमारे साथ बने रहिए। धन्यवाद!🙏

Blog / Website Ka Traffic Kaise Increase Kare 2021 Best Tricks

Blog / Website Ka Traffic Kaise Increase Kare 2021 Best Tricks

Blog / Website Ka Traffic Kaise Increase Kare 2021 Best Tricks

दोस्तों अगर आप वेबसाइट की शुरुआत कर रहे हैं तो सबसे ज्यादा मायने वेबसाइट का ट्रैफिक रखता है क्योंकि traffic के माध्यम से ही आप लाखों पैसे increase कर सकते हैं क्योंकि वेबसाइट का ट्रैफिक बढ़ाना सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है वेबसाइट ब्लॉगर और वर्डप्रेस पर लॉगइन करने वालों की सफलता प्राप्त नहीं करने का सबसे बड़ा रीजन blog पर ट्रैफिक ना आना ही होता है दोस्तों तो आज इस पोस्ट में मैं आपके साथ ब्लॉग वेबसाइट पर ट्रैफिक कैसे बनाएं इसके बारे में जानकारी देने वाली हूं।

दोस्तों इस संसार में अनेक लोगों ने पफ्री/पेड वेबसाइट ब्लॉग पर काम कर रहे हैं लेकिन उन अनेक लोगों ने ब्लॉगिंग में सफलता प्राप्त नहीं की है ब्लॉगिंग में असफलता प्राप्त करने की अनेक reason हो सकते हैं।

जब से आपकी वेबसाइट ब्लॉग पर रीडर्स की अनुपलब्धि ब्लॉग का नाम या कंटेंट पोस्ट गूगल सर्च में नहीं आती है वेबसाइट की लोडिंग स्पीड स्लो होना गूगल ऐडसेंस अप्रूवल का नहीं मिलना, SEO keyword का इस्तेमाल नहीं करना आदि ये सभी की वेबसाइट ट्रैफिक को ना बढ़ाने में बाधा बनते हैं।

दोस्तों अगर आपके ब्लॉग का ट्रैफिक नहीं बढ़ रहा है तू सबसे बड़ा कारण यह हो सकता है कि आपने अपनी वेबसाइट को पूरी तरह से कंप्लीट नहीं किया है और उसे प्रोफेशनल तरीके से डिजाइन नहीं किया है तो सबसे पहले आपको अपनी वेबसाइट को डिजाइन करना है।

दोस्तों जैसे कि बहुत सारे लोग एक ब्लॉग या वेबसाइट की शुरुआत तो कर लेती हैं लेकिन उनको यह जानकारी नहीं होती है कि वेबसाइट को कब गूगल ऐडसेंस अप्रूवल करते हैं और उससे पहले गूगल ऐडसेंस अप्रूवल के लिए भेजते हैं तो गूगल ऐडसेंस की टीम आपके ब्लाग को चेक करती है तो उनमें कुछ कमी उनको नजर आ जाती है तो इस कारण से वह आपकी वेबसाइट को रिजेक्ट कर देते हैं।

दोस्तों जो ब्लॉगर होती है वह गूगल पर ब्लॉक का ट्रैफिक बनाने के लिए अनेक ट्रिक्स का इस्तेमाल करते हैं लेकिन किसी कारणवश उनको सफलता प्राप्त होती है लेकिन कुछ लोग वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ाने के लिए ट्रैफिक को खरीदते भी है।

दोस्तों इस तरीके से आप अपनी वेबसाइट पर ट्रैफिक तो ला सकते हैं परंतु कुछ समय के पश्चात के लिए ट्रैफिक तो आ जाएगा लेकिन गूगल सर्च रैंकिंग लो हो जाएगी।

दोस्तों ट्रैफिक को खरीदने के पश्चात आप अपने वेबसाइट पर ट्रैफिक तो नहीं आते हैं लेकिन यह काम ब्लैक हेड एसीयू टेक्निक के अंतर्गत आते हैं लेकिन इससे आपकी गूगल ऐडसेंस अर्निंग भी नहीं होगी आपको रिकोमोंडेड नहीं करना चाहूंगी। इसीलिए मैं आपको यही सलाह दूंगी कि आप अपनी वेबसाइट के लिए ट्रैफिक ना खरीदे और अपने स्मार्ट वर्क की सहायता से अच्छी क्वालिटी पोस्ट को अपलोड करें और अपनी वेबसाइट को एक प्रोफेशनल तरीके से डिजाइन करें।

अपनी वेबसाइट पर ट्रैफिक कैसे बढ़ाएं ?

(How to increase traffic to your website)

दोस्तों अगर आप अपने ब्लॉग वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ाना चाहते हैं तो मैं आपको यही सलाह दूंगी कि सबसे पहले ब्लॉक वेबसाइट को पूरी तरह से कंप्लीट कर लेना चाहिए और वेबसाइट को अच्छी तरह से डिजाइन करना चाहिए ब्लॉक को कंप्लीट और प्रोफेशनल डिजाइन करके और पोस्ट को ध्यानपूर्वक पढ़िए और बेहतरीन वेबसाइट दिखाने और वेबसाइट को कंप्लीट करने के बाद ही रीडर्स आपके ब्लॉग को लाइक करने लगेंगे और इस तरीके से आपकी वेबसाइट ट्रेफिक बढ़ने लगेगा।

दोस्तों वेबसाइट का ट्रैफिक कैसे बढ़ाया जाए इसके बारे में हम आपको आज भी इस पोस्ट में ऐसी टिप्स एंड ट्रिक्स बताने जा रहे हैं जिनको अगर आप ध्यान पूर्वक पढ़ेंगे तो आप अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक बड़ी आसानी से ला सकते हैं तो चलिए शुरू करते हैं अपनी वेबसाइट कैसे बढ़ाए ब्लॉगर एंड वर्डप्रेस यूजर्स के लिए।

गुलाब का ट्रैफिक कैसे बढ़ाएं ?

(How to Traffic increase to your website)

दोस्तों अगर आप एक वेबसाइट चला रही हैं तो इस वेबसाइट के लिए सबसे पहले उसका ट्रैफिक ही काम देता है दोस्तों गूगल से ट्रैफिक लाना बहुत ही आवश्यक होता है

क्योंकि गूगल से ऑर्गेनिक ट्रेफिक प्राप्त करने से गूगल ऐडसेंस के द्वारा हमें अच्छा रिस्पांस मिलता है और अच्छी अर्निंग भी होती है सोशल मीडिया से या यूट्यूब से ट्रैफिक इनक्रीस करना ऑर्गेनिक ट्रेफिक नहीं माना जाता है।

दोस्तों अगर आप ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ाना चाहते हैं तो आपको हर एक छोटी छोटी बातों का ध्यान रखना होता है तभी आप अपनी पोस्ट के दम पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक प्राप्त कर सकते हैं और बेहतरीन कंडीशन आपकी वेबसाइट पर तभी आएगी जब आप अपनी वेबसाइट की हर एक कंडीशन को ध्यान में रखकर चलेंगे।

तो चलिए शुरू करते हैं और उन tips and tricks बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं जिनको फॉलो करने के बाद हम अपनी वेबसाइट पर बड़ी आसानी से बढ़ा सकते हैं तो चलिए :

फास्ट लोडिंग टेंपलेट थीम का इस्तेमाल करें

दोस्तों आपकी ब्लॉगर या वर्डप्रेस पर ट्रैफिक नहीं आ रहा है तो उसका सबसे बड़ा रीजन स्पीड लोडिंग का स्लो होना होता है GTmetrix Site पर जाकर के आपको वेबसाइट की लोडिंग स्पीड को चेक करना है।

दोस्तों अगर आप की वेबसाइट ब्लॉग 3 – 4 second या उससे अधिक समय ले रही है तुम मेरे यहां पर आपको बताने का यह मतलब है कि आपकी ब्लॉग की लोडिंग 3–4 सेकंड में खुलती है तो आपको उसे सही करना है परंतु दोस्तों कुछ लोगों की वेबसाइट इससे भी ज्यादा समय लेती है ओपन होने में।

अगर आपकी वेबसाइट को ओपन होने में ज्यादा समय लगता है तो रीडर्स आपकी बिल लोगों पर विजिट नहीं करेंगे इसकी वजह वह दूसरी वेबसाइट पर जाएंगे जो कि कम समय में ओपन हो जाती है।

बेस्ट क्वालिटी कंटेंट पोस्ट लिखें

दोस्तों अगर आप अपनी वेबसाइट के लिए बेस्ट क्वालिटी कंटेंट पोस्ट लिखते हैं तो इस तरह से आपकी वेबसाइट का ट्रैफिक बढ़ता है और रोजाना नियमित रूप से हाई क्वालिटी कंटेंट पोस्ट लिखकर के पब्लिश करते रहे।

अगर आप बेहतरीन से बेहतरीन पोस्ट लिखेंगे तो आपकी पोस्ट गूगल सर्च रैंकिंग करने लगा और रीडर्स भी आपकी वेबसाइट पर दोबारा आना चाहेंगे।

ब्लॉग पोस्ट में शेयर बटन का इस्तेमाल करें

दोस्तों सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आपकी ब्लॉग पोस्ट में सोशल शेयर का बटन होना जरूरी है सोशल शेयर बटन फेसबुक, व्हाट्सएप, गूगल प्लस, ट्विटर, लिंक्डइन और पिंटरेस्ट का इस्तेमाल करें।

इसे कोई भी व्यक्ति आपकी वेबसाइट पर विजिट करता है तो वह आसानी से शेयर वाले बटन पर क्लिक करके दूसरे व्यक्ति को शेयर कर सके और फेसबुक लाइक बॉक्स में लगाए।

♦ पोस्ट का टाइटल वायरल युक्त हो

दोस्तों अगर आप अपनी वेबसाइट के लिए कोई भी पोस्ट लिख रहे हैं तो उस पोस्ट का टाइटल वायरल होना चाहिए पोस्ट का टाइटल अन्य पैराग्राफ से बड़ा होना चाहिए ताकि विजिटर को पढ़ने में कोई परेशानी ना हो और वह पोस्ट के बारे में अच्छे से जानकारी ले सकें।

थंबनेल का इस्तेमाल करें

दोस्तों आप अपनी पोस्ट के लिए एक बेस्ट थंबनेल का इस्तेमाल करें जो कि आपकी वेबसाइट का ट्रैफिक बढ़ाने में सहायता करता है और दोस्तों इसके अलावा फोटो में ऑल टैग कीवर्ड का इस्तेमाल करें।

कीवर्ड और कैटेगरी का इस्तेमाल करें

दोस्तों जब आप पोस्ट को रेडी कर रहे हैं तो कीवर्ड और कैटेगरी का विशेष ध्यान रखें और उसमें उसका इस्तेमाल करें इससे विजिटर को पोस्ट को सर्च करने में किसी भी तरह की प्रॉब्लम नहीं आती है और आपकी साइट पर ज्यादा से ज्यादा समय पर लोग बने रहते हैं।

कमेंट का जवाब दें और दूसरी वेबसाइट पर कमेंट भी करें

दोस्तों जब कोई लीडर आपकी ब्लॉग पोस्ट से संबंधित कोई सवाल पूछता है तो आपको उसके सवाल का जवाब देना चाहिए और पुरानी विजिटर को अपनी वेबसाइट पर बनाए रखने के लिए टाइम टू टाइम कमेंट का रिप्लाई करें।

और दोस्तों इसके अलावा आपको दूसरी वेबसाइट पर ही कमेंट करते रहना चाहिए और कमेंट में अपने ब्लॉग का यूआरएल भी इस्तेमाल करें ताकि विजिटर उस लिंक पर क्लिक करके आप की वेबसाइट पर विजिट कर सकें।

निष्कर्ष :

तो दोस्तों आशा करते हैं कि आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई होगी तो हमारी इस पोस्ट को फॉलो करने के बाद ब्लॉग पर ट्रैफिक बढ़ा सकते हैं अगर आपको किसी भी तरह की और अधिक जानकारी प्राप्त करनी है तो आप हमें नीचे कमेंट कर सकते हैं।

नाम से आधार कार्ड कैसे निकलवाऐं या डाउनलोड करें ? 2021

नाम से आधार कार्ड कैसे निकलवाऐं या डाउनलोड करें ? 2021

 

किसी के नाम से आधार कार्ड कैसे निकाले या डाउनलोड करें ?

दोस्तों आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको आधार कार्ड से संबंधित जानकारी देने वाले हैं तो चलिए शुरू करते हैं।

दोस्तों यदि आपका आधार कार्ड किसी कारणवश खो गया है या मिल नहीं रहा है और आपको आधार कार्ड का नंबर भी पता नहीं है। तो ऐसे में आप क्या करेंगे।

ऐसी ही समस्याओं का समाधान लेकर हम आपके लिए हमेशा हाजिर रहते हैं तो आप हमेशा हमारी पोस्ट को फॉलो किया करें

तो दोस्तों इसी समस्या का समाधान लेकर हम आज की इस पोस्ट में हाजिर हुए हैं अगर आप घर बैठे ही आसानी से ऑनलाइन अपना ई आधार नाम के माध्यम से प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको UID Number की जरूरत नहीं है क्योंकि हम आपको आधार कार्ड लिंक मोबाइल नंबर से आधार नंबर निकाल सकते हैं।

दोस्तों जब आपका आधार नंबर निकालें जाएगा तो उसके पश्चात आप UIDAI ऑफिशियल वेबसाइट के माध्यम से डाउनलोड कर सकते हैं।

दोस्तों नाम से ई आधार पीडीएफ निकलवाने की पूरी जानकारी हम आपको नीचे बताने जा रहे हैं इसलिए आप हमारी आज की इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक ध्यान पूर्व पढ़ते रहिए और अपने खोए हुए आधार कार्ड को नाम से प्राप्त करने का प्रयास कीजिए।

आधार कार्ड को नाम से निकलवाने के लिए हमें क्या करना चाहिए :

पूरा नाम

आधार कार्ड रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर ईमेल आईडी

स्मार्ट फोन या लैपटॉप

इंटरनेट कनेक्शन

दोस्तो आप की आधार कार्ड से आपका मोबाइल नंबर लिंक को होना बहुत ही आवश्यक है नाम से आधार कार्ड निकलवाना चाहते हैं तो उससे पहले आपको यह पता कर लेना चाहिए कि आपकी आधार कार्ड से कौन सा मोबाइल नंबर लिंक है अगर आप कोई भी मोबाइल नंबर डालना चाहते हैं तो इसके माध्यम से आप आधार कार्ड प्राप्त नहीं कर सकते हैं सबसे पहले आपको आधार कार्ड में मोबाइल नंबर अपडेट करना है अगर आप चाहे तो आधार कार्ड को लिंक ईमेल एड्रेस के माध्यम से भी निकलवा सकते हैं।

नाम से आधार कार्ड कैसे निकाले या डाउनलोड करें ?

दोस्तों आपको इस लिंक करके इस वाली वेबसाइट पर जाना है।

https://resident.uidai.gov.in/lost-uideid

वहां पर आपको अपना पूरा नाम लिखना है।

Inter name

सबसे पहले आधार कार्ड मोबाइल नंबर भरना है

अगर आप चाहे तो ईमेल एड्रेस से से भी कंप्लीट कर सकते हैं यह कोई जरूरी नहीं है।

दोस्तों कैप्चा वेरीफिकेशन कोड को लिखना है और सेंड ओटीपी वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।

उसके बाद में आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा कंप्यूटर स्क्रीन पर।

नीचे की साइड में आपको स्लाइड करना है और बिल्कुल सही यूटीपी बनाना है।

ओटीपी कंप्लीट करने के बाद में आपको लॉगिन वाला ऑप्शन दिखाई दे रहा है उस पर क्लिक करना है।

उसके बाद में आपके ही रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आधार कार्ड नंबर एसएमएस के माध्यम से भेजा जाएगा।

जब आप उस s.m.s. को ओपन करेंगे तो वहां पर आप 12 अंक का आधार नंबर पाएंगे।

उसके बाद में आपको उस पेज पर थोड़ा नीचे आना है और “डाउनलोड ई आधार” वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है 

उसके बाद में आपको अपना आधार नंबर भरना है जो कि आपको s.m.s. के माध्यम से आपको प्राप्त हुआ था।

कैप्चा कोड भरने के बाद में सेंड ओटीपी का ऑप्शन दिखाई दे रहा होगा उस पर क्लिक करना है और ओटीपी टाइप करने के बाद Tske A quick survey भी को कंप्लीट करना है।

और लास्ट में verify and download का ऑप्शन दिखाई दे रहा है उस पर क्लिक करना है और कुछ ही समय में आपका ई आधार डाउनलोड हो जाएगा।

ई आधार पीडीएफ फाइल डाउनलोड हो जाने के पश्चात आपसे आपका आधार कार्ड पासवर्ड पूछा जाएगा और पासवर्ड में आपका नाम और पहला 4 लेटर कैपिटल में और लास्ट 4 लेटर डेट ऑफ बर्थ अगर आप चाहे तो दूसरे तरीकों के माध्यम से वर्चुअल आईडी नंबर, एनरोलमेंट नंबर आदि के माध्यम से भी आधार कार्ड को डाउनलोड कर सकते हैं।

दोस्तों हमारे द्वारा बताए गए इन तरीकों को आप फॉलो करते हैं तो आप घर बैठे आसानी से अपने नाम से आधार कार्ड प्राप्त कर सकते हैं खोया हुआ आधार कार्ड निकालने का पूरा तरीका आज किस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बताया है दोस्तों अगर आपके पास डेस्कटॉप पर लैपटॉप नहीं है तो आप अपने स्मार्टफोन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं बस आपके पास अपनी फोन में एम आधार एप होना चाहिए एम आधार एप में आपको लॉगइन करना है और बाकी की जानकारी आप हमारे इस एप्स के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं और आपको बिल्कुल सही एप को सर्च करना है।

और आप अपने नाम के माध्यम से आधार कार्ड को सर्च कर सकते हैं और वहां पर देख नहीं सकते हैं और नाम से आधार मिल जाने के बाद में आपसे निकलवा भी सकते हैं।

Share Market Kya Hai? शेयर कैसे खरीदें और बेचें? Full Guide.

Share Market Kya Hai? शेयर कैसे खरीदें और बेचें? Full Guide.

Share Market Kya Hai? शेयर कैसे खरीदें और बेचें? Full Guide.

दोस्तों आज हम आपके साथ शेयर मार्केट क्या है उसके बारे में जानकारी शेयर करने वाली है क्योंकि शेयर मार्केट क्या है आप लोगों में से अनेक लोगों ने तो सुना होगा लेकिन मैं तो पहली बार सुन रही हूं। दोस्तों आपने कभी ना कभी तो न्यूज़, टीवी या किसी के मुंह से तो सुना ही होगा के शेयर मार्केट में भारी उछाल है या गिरावट देखने को मिली है या आपसे किसी ने बोला होगा कि शेयर मार्केट में पैसे लगाए और हमारे सारे पैसे चले गए और मैं बर्बाद हो गया लेकिन क्या आप शेयर मार्केट से पूरी तरह से परिचित हैं किस शेयर मार्केट क्या होता है?

क्या दोस्तों आपको यह पता है कि लोग इससे कैसे अमीर और गरीब बनते हैं और इतना ही नहीं इसके बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारी इस पोस्ट को पढ़ सकते हैं आपके मन में शेयर करो मार्केट के बारे में कोई भी डाउट होगा वह हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के बाद में खत्म हो जाएंगे तो चलिए शुरू करते हैं शेयर किया है व्हाट इज शेयर मार्केट इन हिंदी।

जैसा कि दोस्तों आपको पता ही है कि आज के दौर में पैसा कमाना इतना आसान हो गया है कि आप अनेक तरीकों को आजमा कर के घर बैठे आसानी से लाखों कैसे बना सकते हैं जिनसे बिजनेस करना जिससे आप भी आसानी से पैसे कमा सकते हैं लेकिन एक तरीका ऐसा भी है जिससे आप पैसा से पैसा बना सकते हैं यानी कि पैसों को दाव में रख कर पैसा कमाना और इसमें आपको बहुत सारी मेहनत भी करनी होती है और दिमाग का भी उपयोग करना पड़ता है।

दोस्तों बस आपको शेयर मार्केट में अपने पैसों को इन्वेस्ट करना है लेकिन पैसा इन्वेस्ट करें तो किस स्थान पर करें यह भी आप के मन में सवाल उठ रहा होगा यानी पैसों को कहां पर दांव पर लगाते हैं आज के इन सभी प्रश्नों का जवाब आपको हमारी आज किस पोस्ट में मिल जाएगा आइए तो समय को बर्बाद ना करती हुई जानकारी लेते हैं। शेयर मार्केट क्या है ?

शेयर क्या है?

What is share in Hindi : दोस्तों इसे पहले के शेयर मार्केट के बारे में जानकारी प्राप्त करने से पहले आपको शेयर किया होता है इसके बारे में बता देते हैं शेयर शब्द नाम सुनकर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि शेयर का अर्थ क्या होता है और पूरी जानकारी नहीं है तो हम आपको बता देते हैं। दोस्तों जैसे कि शेयर का मतलब आपने किसी कंपनी की मूल रकम यानी कि आय का एक छोटा सा हिस्सा जिसे बराबर इस समय बांट दिया जाए और उसके अनेक एस्से शेयर के साथ में मिलकर कंपनी की मूल आय के रूप में प्राप्त होती है।

दोस्तों एग्जांपल के लिए आप XYZ किसी भी कंपनी को ले सकते हैं उसकी कुल आय ₹100000000 हैं,और उसकी कुल आय को बराबर हिस्सों में बांट दिया जाए जैसे कि 10 स्थानों पर बांट दिया जाए तो एक टुकड़े की अहमियत रहेगी ₹100 है तो उसमें एक टुकड़े की एक छोटी सी आय होती है जिसे शेयर कहा जाता है।

शेयर मार्केट क्या है (What is Share Market?)

दोस्तों शेयर मार्केट क्या होता है : शेयर मार्केट नाम सुनने से आपको जानकारी हो गई होगी कि जहां पर शेयर की खरीदारी और बिक्री हो रही हो उस तरह का बाजार दोस्तों यहां पर तो शेयर खरीदे जाते हैं या फिर बेचे जाते हैं या फिर इसमें यह होता है कि अगर आप किसी कंपनी का शेयर खरीदना चाहते हैं और आप जितने पैसे उसको शेयर खरीदे नहीं के लिए देते हैं उसे परसेंटेज कि दर से आप उस कंपनी के ओनर होते हैं या यह कहें कि आप उस कंपनी मैं पार्टनरशिप निभाते हैं उस कंपनी का फ्यूचर ही आपका फायदा है या नुकसान तय करता है।

और दोस्तों जिस कंपनी में आप पार्टनरशिप कर रहे हैं और उस कंपनी को फायदा होता है तो आपकी पार्टनरशिप शेयर की कीमत बढ़ जाती है और आपको फायदा होता है और कंपनी नहीं चलती है या कंपनी को नुकसान उठाना पड़ता है तो ऐसा होने पर आपको पैसे डूब सकते हैं। दोस्तों शेयर मार्केट को हम स्टॉक मार्केट भी कह सकते हैं इतना यहां पैसा कमाना आसान होता है उतना ही पैसा गवाना भी क्योंकि स्टॉक मार्केट में उतार-चढ़ाव की संभावना तो बनी रहती है या फिर यूं कहें कि यह एक प्रकार से पैसा मारा जाता है यहां पैसे कमाए और गवाए जाते हैं इसका कोई भरोसा नहीं है कि हमें लाभ ही लाभ हो कुछ भी हो सकता है एक पल में आप और अमीर भी हो सकते हैं और गरीब भी।

अगर दोस्तों में शेयर के प्रकारों के बारे में बात करें तो शेयर मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं जिनके बारे में हम आपको नीचे बताने वाले हैं।

1. इक्विटी शेयर (Equity Share)

2. प्रेफेरेंस शेयर (Preference share

3. डीवीआर शेयर (DVR Share)

Equity Share :

 दोस्तों इस प्रकार की शेयर को हम ऑर्डिनरी शेयर के नाम से भी जाना जाता है अनिल शेयर को केवल शेयर ही कह सकते हैं यानी कि शेर को हम केवल शेर ही बोलते हैं तो वह एक इक्विटी शेयर माना जाता है इस प्रकार की शेयर जिसके पास में होते हैं उसे कंपनी का ओनर कहा जाता है क्योंकि शेयर होल्डर के कंपनी में किए जाने वाले मैनेजमेंट के डिसीजन में वोट देने का अधिकार प्राप्त होता है और उस व्यक्ति को इक्विटी शेयर होल्डर के नाम से जाना जाता है।

Preference share : 

दोस्तों इस तरह की शेयर उसे हमें यह मालूम पड़ता है कि शेयर को कुछ विशेष अधिकार प्राप्त होती हैं इस तरह के शेयर में इक्विटी शेयर की तरह शेयर होल्डर को वोट देने का अधिकार प्राप्त नहीं होता इसलिए ज्यादातर लोग परफॉर्मेंस शेयर के मुकाबले इक्विटी शेयर को करना ज्यादा पसंद करते हैं।

DVR Share :

डीवीआर की फुल फॉर्म डिफरेंटीअल वोटिंग राइट

होती है इस तरह के शेयर में आपको इक्विटी और परफॉर्मेंस के कुछ फायदा देखने को प्राप्त होता है जैसे कि इसमें शेयर होल्डर को वोटिंग देने का अधिकार प्राप्त नहीं होता है लेकिन आपको कुछ विशेष अधिकार जरूर मिलते हैं भारत में दो कंपनी ने डीवीआर शेयर जारी किया है जो कि टीए टीए मोटर्स टाटा जैन इरिगेशन है।

शेयर कैसे खरीदें ? (How to Buy Shares )

तो दोस्तों में तो करते हैं कि इतना बताने के बाद में आप समझ गए होंगे कि शेयर मार्केट या फिर यूं कहें कि शेयर बाजार किसे कहते हैं तो हम आपको शेयर बाजार के निवेश के बारे में पूरी तरह से समझाने वाले हैं तो चलिए शुरू करते हैं शेयर बाजार में निवेश कैसे करते है? दोस्तों अगर आप शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको स्टॉक खरीदना होगा आपको उसी कंपनी के स्टॉक खरीदने पड़ते हैं जो कंपनी स्टॉक मार्केट में लिस्टेड होती है लेकिन इसे खरीदने या बेचने के लिए आपको स्टॉक मार्केट में जाने की जरूरत नहीं होती है इसके लिए आपको एक स्टॉक ब्रोकर की आवश्यकता होती है।

स्टॉक ब्रोकर के माध्यम से ही आपको किसी भी कंपनी में शेयर खरीद या शेयर बेच कर सकते हैं। तो दोस्तों इसके लिए आपको किसी भी स्टॉक ब्रोकर के पास जाना होगा उसके बाद हम रो कर आपको ऐसे पूरी प्रक्रिया के बारे में जानकारी देगा और आपके महत्वपूर्ण दो अकाउंट ओपन कर देगा।दोस्तों उन दोनों अकाउंट में आपका पहला अकाउंट डिमैट अकाउंट और दूसरा होता है ट्रेंडिंग अकाउंट जवाब यह दोनों अकाउंट को ओपन करवा लेते हैं तो उसके बाद में आप शेयर मार्केट से कोई भी शेयर खरीद सकते हैं आपको इन दोनों अकाउंट को कुछ discount देना होता है।

आगे बढ़ने से क्या ले हम सबसे पहले यह जान लेती है कि डिमैट अकाउंट और ट्रेंडिंग अकाउंट क्या होता है?

डिमैट अकाउंट क्या होता है ? (What Is DEMAT Account in Hindi)

दोस्तों अगर आप शेयर मार्केट से शेयर खरीदना या बेचना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास डिमैट अकाउंट होना बहुत ही आवश्यक है लेकिन अगर आप इसमें पूरी तरह से प्रेशर है तू आपको यह जानकारी लेना बहुत ही महत्वपूर्ण है कि आखिर डिमैट अकाउंट क्या होता है तो चलिए शुरू करते हैं।

डिमैट की फुल फॉर्म – “DEMATERIALISED”

दोस्तों जवाब कोई शेयर खरीदना चाहती हैं तो शेयर को खरीदते समय शेयर रखने के लिए आपको डिमैट अकाउंट की जरूरत पड़ती है आपके आने के शेयर इस डिमैट अकाउंट में उपलब्ध रहती हैं और जब आप और उस शेर को सेल कर दी है तो आपकी डिमैट अकाउंट से निकलकर खरीदने वाले की डिमैट अकाउंट में चले जाते हैं।

ट्रेंडिंग अकाउंट क्या है ? (What Is Trading Account)

दोस्तों शेयर को गाली देने के लिए सबसे पहले आपको शेयर की कीमत पर करने के लिए ट्रेन में अकाउंट की आवश्यकता होती है और इसका इस्तेमाल शेयर खरीदने या बेचने के लिए स्टॉक ब्रोकर को आदेश देने के लिए किया जाता है। जब हम कोई भी शेयर खरीदते हैं तो उसके लिए कोई आदेश देते हैं तब वह आर्डर पूरा होने के पश्चात आपके डिमैट अकाउंट में आपकी शेरा अकाउंट में आ जाते हैं और उस शेयर को खरीदने के लिए आपको जितने पैसे की आवश्यकता होती है वह आपके ट्रेंडिंग अकाउंट से कट कर लिए जाते हैं।

दोस्तों और आपके पास डिमैट और ट्रेंडिंग अकाउंट होता है तो आप अपने शेयर ब्रोकर को इंफॉर्मेशन दे करके आप किसी भी कंपनी से शेयर सैल कर सकते हैं और उसे खरीदे हुए शेयर आपकी डिमैट अकाउंट में आज आएंगे और आप के टेंडर का अकाउंट इसे शेयर के लिए जो भी पैसे होंगी वह ब्रोकर की कमीशन और टेक्स्ट के साथ काट दिए जाएंगे। दोस्तों आप बिल्कुल ठीक उसी प्रकार से आप शेयर सैल करना चाहते हैं तो आपको आपके ब्रोकर को इंफॉर्मेशन देनी है कि आपके शेयर बेच रहा हूं शेर भेजते ही आपके डेबिट अकाउंट से खरीदने वाले के डीमेट अकाउंट में शेयर चले जाते हैं और आपके पैसे आपके ट्रेंडिंग अकाउंट में आपको मिल जाते हैं।

शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए आपको कुछ जरूरी बातें को ध्यान में रखना है।आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शेयर मार्केट में निवेश करना एक बहुत बड़ा रिस्क होता है शेयर मार्केट का नाम सुनकर अनेक लोग अपना पैसे इन्वेस्ट करने से भयभीत रहते हैं क्योंकि अनेक लोग ऐसे होते जिनका शेयर बाजार को लेकर के एक्सपीरियंस बहुत ज्यादा खराब हुआ है लेकिन लेख ऐसी आने को लोग हैं जो शेयर बाजार में से अमीर हुए हैं ऐसा इसलिए नहीं है कि शेयर बाजार बेकार है लेकिन आपको इसमें निवेश करने से पहले अनेक बातों को ध्यान में रखना होगा तो चलिए इन बातों के बारे में जान लेते हैं।

दोस्तों अगर आप शेयर बाजार में प्रवेश करना चाहते हैं तो उसके लिए आपके पास एक अच्छा शेयर ब्रोकर होना जरूरी है एक्सपीरियंस ब्रोकर आपके अमीर बनने के मौके बढ़ा देता है लेकिन साथ ही साथ है इस बात का भी ध्यान रखें कि ब्रोकर शेयर को खरीद और बेचने के लिए कम से कम कमीशन लेता हो।

दोस्तों अगर आप भी मार्केट में जाना चाहते है तो बेसिक इनफार्मेशन के बारे में जानकारी होनी चाहिए तब तक शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए न सोचें, दोस्तों आप सभी कंपनी के साथ शेयर खरीदने का विचार बना रही है तो कंपनी के बारे में आपको पहले से ही पूरी जानकारी ले लेनी चाहिए। कभी-कभी बुरी लालच के चक्कर में ना पड़े और अपने विवेक का सदुपयोग करके उसका इस्तेमाल करें।

1885 ई. – से 1907 ई. तक के कार्य

1885 ई. – से 1907 ई. तक के कार्य

उदारवादी युग (1885 ईस्वी से 1905 ईस्वी) –

कांग्रेश की 1885 से 1985 तक की युग को उदारवादी युग कहा गया था। इस काल में उदारवादी भारतीय नेताओं का दृष्टिकोण सुधारवादी था। इन्होंने संवैधानिक तरीके से अपनी मांगों को ब्रिटिश सरकार के समक्ष रखा था। अपनी मांगों को इन्होंन प्रार्थनाओ, स्मृति पत्रों आदि के माध्यम से ब्रिटिश सरकार के सामने प्रस्तुत किया था। इस संबंध में कांग्रेस ने अपनी विभिन्न प्रतिनिधिमंडल ब्रिटेन भेजे थे। इन प्रतिनिधि मंडलों ने ब्रिटिश संसद एवं ब्रिटिश जनता को भारतीयों की मांगों के औचित्य के बारे में बताया था। कांग्रेस के प्रमुख उदारवादी नेताओं में दादा भाई नौरोजी, गोपाल कृष्ण गोखले, सुरेंद्रनाथ बनर्जी, फिरोजशाह मेहता, दिनेश वाचा आदि थे। इस काल में कांग्रेस को अधिक सफलता नहीं मिल पाई थी। फिर भी उन्होंने भारतीयों को सामान्य राजनीतिक, आर्थिक एवं संस्कृति के हितों के प्रति जागरूक किया था। जनतंत्र, नागरिक स्वतंत्रता एवं राष्ट्रीय वादी विचारों को जनता तक पहुंचाया था।

ब्रिटिश सरकार की कांग्रेस के प्रति नीति–

1886 ईस्वी में वायसराय डफरिन ने कांग्रेस के प्रतिनिधियों के लिए कलकत्ता में स्वागत समारोह किया था। 1888 ईस्वी में कांग्रेश के स्वरूप के बदलने से ब्रिटिश सरकार कांग्रेस की प्रति शंकालु हो गई थी। डफरिन ने 1888 ईसवी में कांग्रेश को भारतीय जनता के बहुत सूक्ष्म भाग का प्रतिनिधि बताया था। वायसराय कर्जन कांग्रेश को समाप्त करना चाहता था। 1900 ईस्वी में लॉर्ड कर्जन ने भारत सचिव को लिखा “कांग्रेश धीरे-धीरे लड़खड़ा रहा कर गिर रही है और भारत में रहते हुए मेरी बहुत बड़ी आकांक्षा है कि मैं इसकी शांतिपूर्ण मृत्यु में सहायक बनो।” सर सैयद अहमद खां ‘यूनाइटेड पेट्रियोटिक एसोसिएशन’नामक संगठन के माध्यम से कांग्रेसी विरोधी लोगों को एक मंच पर लाकर ब्रिटिश सरकार के पक्ष में खड़ा किया था।

बंगाल विभाजन–

वायसराय लार्ड कर्जन ने राष्ट्रीय आंदोलन को कुचलने के लिए 1905 ईस्वी में बंगाल को विभाजित कर दिया था। उस समय बंगाल में वर्तमान की पश्चिमी बंगाल, बिहार, उड़ीसा, एवं वर्तमान बांग्लादेश के क्षेत्र में सम्मिलित थे। इनका क्षेत्रफल लगभग 1,89,000 वर्ग मील एवं जनसंख्या लगभग 8 करोड थी। इस प्रकार मुस्लिम बहुल पूर्व बंगाल का गठन किया गया था। सरकार ने अपनी बंग भंग योजना 19 जुलाई 1905 को आमजन के समक्ष प्रस्तुत की थी। 16 अक्टूबर 1905 को यह योजना लागू कर दी गई थी। मुस्लिम बहुल ढाका, चटगांव और राजशाही डिवीजन ओ को बंगाल से पृथक किया गया था और उन्होंने असम के साथ मिलाकर नया प्रांत पूर्व बंगाल बनाया गया था। इस प्रकार मुस्लिम बहुल पूर्व बंगाल का गठन किया गया था। की राजधानी ढाका रखी गई थी। शेष हिंदू बहुल हिस्सा बंगाल बना रहा था एवं इसकी राजधानी कलकत्ता ही रही थी।

बंग भंग विरोधी आंदोलन–

बंगाल विभाजन विरोधी आंदोलन 7 अगस्त 1905 को आरंभ हुआ था। इस दिन कोलकाता कोलकाता के टाउन हाल में विभाजन के विरुद्ध एक विशाल जनसभा हुई थी। इस सभा में बंग के विरुद्ध प्रस्ताव पारित किए गए थे। बंग बंग के विरुद्ध तब तक आंदोलन चलाने का निर्णय लिया गया था जब तक भंग भंग की योजना रद्द नहीं की जाती। कोलकाता में इस दिन हड़ताल रखी गई थी। रविंद्र नाथ टैगोर ने 16 अक्टूबर को ‘राखी दिवस’ के रूप में मनाने का आह्वान किया था। विद्यार्थियों ने विदेशी माल बेचने वाली दुकानों पर धरना दिया था। विद्यार्थियों के समूह बाजार में घूम– घूमकर लोगों से विदेशी माल ना खरीदने का अनुरोध करने लगे थे। अंततः सरकार ने 1911 ईस्वी में बंगाल विभाजन रद्द कर दिया था।

गरम पंथी राष्ट्रवादी आंदोलन का प्रारंभ–

कांग्रेसी ने नरमपंथी यों एवं गर्मपंक्तियों में 1905 ईस्वी से 1907 ईस्वी के बीच मतभेद होने लगा था। गरम पंथी स्वदेशी एवं बहिष्कार आंदोलन को बंगाल तक सीमित ना रखकर ऐसे देश के अन्य भागों में भी पहुंचाना चाहते थे जबकि नरमपंथी इस आंदोलन को केवल बंगाल तक सीमित रखना चाहते थे। 1946 वीके कांग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन में अध्यक्ष पद को लेकर विवाद हुआ था। गरम पंथी बंगाली गंगाधर तिलक को अध्यक्ष बनाना चाहते थे। दादा भाई नौरोजी के अध्यक्ष चुन लिए जाने से यह विवाद उस समय समाप्त हो गया था। गरम पन्थियों के प्रयास से कांग्रेस की 1906 ईस्वी के कलकत्ता अधिवेशन में स्वदेशी, बहिष्कार राष्ट्रीय, शिक्षा एवं स्वशासन से संबंधित चार प्रस्ताव पारित हुए थे।

स्वदेशी आंदोलन–

बंग भंग को लेकर हुए आंदोलन के परिणाम स्वरुप बहिष्कार एवं स्वदेशी भारतीयों के लिए ब्रिटिश साम्राज्यवाद के विरुद्ध शक्तिशाली हथियार बन गए थे। मुंबई, मद्रास एवं उत्तर भारत में स्वदेशी अपनाने, विदेशी वस्तुओं के बहिष्कार एवं राष्ट्रीय शिक्षक के लिए आंदोलन हुआ था। स्वदेशी आंदोलन को शक्तिशाली बनाने के लिए अनेक स्वयंसेवी संगठनों एवं जन समितियों का गठन किया गया था। 1946 अभी तक स्वदेशी आंदोलन शीघ्र ही देश के विभिन्न भागों में फैल गया था। राष्ट्रीय वादी साहित्य और पत्रकारिता का विकास हुआ था। रविंद्र नाथ टैगोर, रजनीकांत सेन, डी.एल. राय आदि ने देशभक्ति के गीत लिखकर राष्ट्रीय भावना का विकास किया था। कोलकाता में 1 नेशनल कॉलेज खोला गया जिसके प्राचार्य अरविंद घोष बने थे। राष्ट्रीय साहित्य के वैज्ञानिक एवं तकनीकी शिक्षा देने के लिए राष्ट्रीय शिक्षा परिषद की स्थापना का निर्णय लिया गया था। राष्ट्रीय आंदोलन के बढ़ते प्रभाव से अंग्रेज सरकार चिंतित हो रही थी। अंग्रेज सरकार राष्ट्रीय आंदोलन को कमजोर करने के लिए हिंदुओं के विरुद्ध मुस्लिमों को कमजोर करने के लिए हिंदुओं के विरुद्ध मुस्लिमों को खड़ा करने का प्रयास करने लगी थी। अलीगढ़ कॉलेज के प्राचार्य आर्चबोल्ड एवं तत्कालीन वायसराय लॉर्ड मिंटो उनके निजी सचिव डनलप स्मिथ के प्रयास से आगा खां के नेतृत्व में 36 मुसलमानों का प्रति मंडल 1 अक्टूबर 1906 को वायसराय लॉर्ड मिंटो से मिला था। इन्होंने मांग की प्रतिनिधि संस्थाओं में मुस्लिमों के राजनीतिक महत्व और साम्राज्य की रक्षा में उनकी देन के अनुरूप उनका स्थान होना चाहिए, ना की उनके समाज की जनसंख्या के आधार। विधान परिषदों के लिए मुस्लिम निर्वाचन मंडल स्थापित किए जाए। लॉर्ड मिंटो ने मुसलमानों की प्रतिनिधिमंडल की आवेदन की सहारना करते हुए उनकी ही मांगों को उचित बताया और उन्होंने यथासंभव स्वीकार करने का आश्वासन दिया था। इस आश्वासन के बाद सलीमुल्लाह खाने मुस्लिमों के एक संगठन के निर्माण की पहल की थी।

मुस्लिम लीग की स्थापना–

30 दिसंबर 1906 को सलीमुल्ला खां ने ढाका में मुस्लिमों की एक सभा में मुस्लिम लीग का गठन किया था। इस सभा में मुस्लिम लीग का गठन नवाब बकार उल मुल्क की अध्यक्षाता में हुआ था। इसका उद्देश्य ब्रिटिश सरकार का समर्थन करना एवं मुसलमानों के लिए सुविधाएं प्राप्त करना था। यह कांग्रेस के बढ़ते हुए प्रभाव को रोकना चाहती थी। मुस्लिम लीग ने 1905 ईस्वी के बंगाल विभाजन का समर्थन किया था। बंग भंग विरोधी एवं बहिष्कार आंदोलन का विरोध किया गया था।